Breaking News

भारत के गधों एक हो जाओ, अर्जुन राठौर की कलम से….

Posted on: 15 Jun 2018 16:28 by krishnpal rathore
भारत के गधों एक हो जाओ,  अर्जुन राठौर की कलम से….

जब से मैंने यह खबर पढ़ी है की चीन साउथ अफ्रीका से गधे चुरा रहा है तब से मेरे दिमाग में रह रह कर यही बात आ रही है कि भारत के गधों को सतर्क कर दिया जाए कि चीन की नजर उन पर पड़ चुकी है और वे किसी भी दिन चीनी षड्यंत्र के शिकार हो सकते हैं इसलिए समय आ गया है कि भारत के सारे गधों को एक हो जाना चाहिए ताकि उनके अस्तित्व पर आया हुआ संकट टल सके ।जब चीन जैसा देश दक्षिण अफ्रीका से गधे चुराने की कोशिश करता है तो समझ में आता है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में गधों की कितनी कीमत है ,हम तो गधों का महत्व ही नहीं समझते बेचारे गधों की आए दिन तोहीन करते रहते हैं और समझदार गधौं की मनुष्य से तुलना करके आए दिन उनका अपमान करते रहते हैं । वैसेगधे चुराने का अपना एक अलग ही आनन्द है गधे के साथ सबसे बड़ी सुविधा है कि वह ज्यादा से ज्यादा आपको दुलत्ती मारेगा लेकिन यदि आप उसे चुराने में सफल हो जाते हैं तो फिर आपके तो वारे न्यारे हो जाएंगे । चीन तक की नजर आपके द्वारा चुराए गए गधे पर रहेगी और आपके लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाएगा । पता तो यह भी चला है कि चीन इस बात की जानकारी निकाल रहा है कि किन-किन लोगों ने कितने गधे पाल रखे हैं और उन्हें कैसे चुराया जा सकता है दक्षिण अफ्रीका के बाद चीन का अगला टारगेट भारत ही है ।

via

भारत में वैसे भी गधे सामान ढोने के काम आते हैं लेकिन चीन इससे बढ़कर उनका उपयोग करना चाहता है और वह गधों की खाल से जिलेटिन बनाना चाहता है । पता चला है कि इन दिनों चीन के बाजार में जिलेटिन की भारी कमी है और विश्व बाजार में उसकी मांग बढ़ती ही जा रही है ऐसे में चीन के लिए सबसे बड़ा सवाल यही है कि गधे चुराए जाए ताकि उनकी खाल से जिलेटिन बन सके ।भारत के गधे इस अर्थ में बहुत खुशकिस्मत है कि उनसे कम से कम सामान ढोने का ही काम लिया जा रहा है उनकी खाल से जिलेटिन तो नहीं बनाई जाती अब सवाल यह भी है गधों के साथ साथ उनके मालिकों को भी इस बात का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा कि कहीं चीन वाले गधे ना चुरा ले क्योंकि अगर ऐसा होता है तो यह गधे के लिए तो दुर्भाग्यपूर्ण साबित होगा ही और मालिक भी पशु हत्या के पाप में पड़ जाएगा । भारत में गधों की बढ़ती तादाद चीन के लिए जलन का विषय बनी हुई है ,चीन में इन दिनों गधों की भारी कमी है यही वजह है उसकी नजर अपने पड़ोसी देशों पर है दक्षिण अफ्रीका में तो उसने सेंधमारी कर ही ली है अब वह भारत में घुसपैठ करने की तैयारी में है ।

via

हमारे देश के गधों को विशेष रूप से सतर्क रहना चाहिए कि कहीं ऐसा ना हो कि चीन वाले उनको पकड़ कर ले जाएं हमारे देश के गधे वैसे भी बहुत समझदार है उनके पास सामान ढोने का लंबा अनुभव और सिलसिला है लेकिन अपनी खाल उतरवाने का उनके पास एक भी अनुभव नहीं है ऐसे में भारत के गधे इस बात को लेकर विशेष चिंतित हैं कि वह कहीं चीन के पल्ले न पड़ जाए क्योकि भारत में तो सामान ढोकर किसी तरह जीवन कट जाता है पर वहां गए तो सीधी खाल ही उधेड़ देंगे । मेरी सहानुभूति भारत के गधों के साथ है और मैं भी चाहता हूं कि उन्हें भारत में ही सरंक्षण मिले और वह चीन के षड्यंत्र का शिकार नहीं हों । गधों का मै इसलिए भी प्रशंसक हूं भले ही कैसा भी समय आ जाए वे कभी भी अपने जीवन से निराश नहीं होते । आपने कभी नहीं सुना होगा कि किसी गधे ने बोर होने की शिकायत की हो वे कहते हैं कि हम जैसे भी हो अपना जीवन काट ही लेते हैं जीवन से ऊबने जैसे काम तो मनुष्य ही करते हैं

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com