भारत के डर से पीओके में बंद हुए आतंकी कैंप? सेना प्रमुख ने दिया ये बयान | General Bipin Rawat on Reports about Islamabad Shutting Terror Camps in POK…

0
12

पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर पीओके में पाक द्वारा आतंकी कैंपों को बंद किए जाने की खबरों को लेकर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि यह फिलहाल स्पष्ट नहीं है कि पाकिस्तान ने आतंकवादी शिविरों को बंद किया है या नहीं। लेकिन भारत अपनी सीमा सीमाओं पर कड़ी निगरानी रख रखना जारी रखेगा।

बता दे कि पाकिस्तान के इस फैसले की वजह भारत के डर को बताया जा रहा है। इसके अलावा अगले हफ्ते होने वाली पाकिस्तान फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएएफटी) की बैठक को भी इसका प्रमुख कारण बताया जा रहा है। एफएएफटी की बैठक से पहले पाकिस्तान आतंकी संगठनों पर कार्यवाही का दिखावा करना है इस संगठन द्वारा पाकिस्तान को पहले ही ग्रे लिस्ट में डाला जा चुका है।

जिन आतंकी कैंपों को बंद किए जाने का दावा किया जा रहा है उसमें कोटली और निकियाल क्षेत्र में चलने वाले लश्कर-ए-तैयबा के कैंप शामिल है। इसके अलावा बाघ और पाला क्षेत्र में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंप और कोटली में हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी कैंप भी शामिल है।

इंटेलिजेंस रिपोर्ट के अनुसार लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन द्वारा संचालित मुजफ्फराबाद मीरपुर के कैंपो को भी बंद किया गया है। गौरतलब है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद से भारत की ओर से पाकिस्तान पर आतंकी कैंपों को बंद करने का लगातार दबाव बनाया जा रहा है यह सभी आतंकी कैंप एलओसी के पास ही मौजूद थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here