Breaking News

गेहलोद: कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में जनता से किए गए किसी भी वादे को पूरा नहीं किया

Posted on: 25 Apr 2019 20:55 by Mohit Devkar
गेहलोद: कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में जनता से किए गए किसी भी वादे को पूरा नहीं किया

इंदौर: आज भारतीय जनता पार्टी कार्यालय पर केन्द्रीय मंत्री श्री थावरचन्द गेहलोद ने पत्रकार-वार्ता में चर्चा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री पद से शिवराजजी हटे और कमलनाथजी बने। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में जनता से किये गये किसी भी वादे को पूरा नहीं किया। सिर्फ जनता को भ्रमित करते रहे है। तबादला उद्योग चलाया इसी वजह से इनके करीबियों पर इन्कम टैक्स के छापे पड़े और 281 करोड़ रूपये पकड़ाये भी।

आपने कहा कि प्रदेश में अभी इनके समय में ही 400 से अधिक जघन्य हत्याएं हो चुकी है। इसी के साथ महिला उत्पीड़न में भी बहुत अधिक वृद्धि हुई है।प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट हो चुकी है। दो दिन पहले इंदौर के थाने में अत्यधिक दुखद घटना देश भक्ति और जनसेवा का क्रूर मजाक करते हुए दलित युवक संजय को चोरी के आरोप में पड़ककर लाया गया, उसके साथ बूरी तरह मारपीट की गई। तरह-तरह की यातनाएं दी गई। राक्षस भी इस तरह की यातनाएं नहीं देते है। वो चिल्लाता रहा मैंने चौरी नहीं की, मुझे मत मारों आपकी मार से मैं मर जाऊंगा, लेकिन पुलिस वालों के हाथ नहीं रूके। इसी के साथ पुलिस ने उसके घरवालों को भी बुला लिया और उनके साथ भी मारपीट की गई। इसमें भी पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज होना चाहिए।
मैं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग का मंत्री हूं मेरे विभाग में दोषियों पर कार्यवाही करने और सजा दिलाने का कार्य आता है। इस संदर्भ में मैंने पुलिस महानिरीक्षक वरूण कपूर से बात भी की और उनसे इस मामले की संपूर्ण जांच कराकर दोषियों पर कड़ी कार्यवाही करने के लिये भी कहा।

इसी के साथ भाजपा ने प्रदेश सरकार से 1 करोड़ रूपये मुआवजे की मांग भी की है। इस तरह के प्रकरणों में 50 हजार से लेकर 1 करोड के बीच मुआवजा दिया भी जाता है।
आपने कहा कि मुझे शंका है, इस जांच को जानबूझ कर उलझाया जा रहा है, क्योंकि मारने वाले भी पुलिस वाले है और प्रकरण की जांच करने वाले भी पुलिस ही है। पुलिस, पुलिस को बचाने में लगी है। इसी वजह से अभी तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी नहीं आई है। ऐसा लगता है कुछ गड़बड़ी हो रही है। मेरा कहना है यदि पुलिस कस्टडी में इस तरह की क्रूर घटना को अंजाम दिया गया है जो कि सीधा-सीधा क्रूरतम हत्या का प्रकरण बनता है, जिसमें धारा 302 के तहत हत्यारे पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर इन्हें गिरफ्तार करना चाहिए। भाजपा तो मांग करती है कि इसकी जांच सीबीआई से कराना चाहिए। मैं प्रदेश के मुख्यमंत्री से इस संदर्भ में बात कर अनुशंसा करूंगा, ताकि सही जांच हो सके।

इस प्रकरण में कलेक्टर के द्वारा जो मुआवजा राशि घोषित की गई है। यह राशि पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के द्वारा शुरू की गई संबल योजना के अंतर्गत जिसमें दुर्घटना में मृत्यु होने पर यह राशि दी जाती है, लेकिन यह दुर्घटना नहीं है यह तो थाने में मारपीट कर हत्या की गई है। रेडक्रास सोसायटी से देना भी सही नहीं है। राज्य सरकार को संजय के परिजनों को एक करोड़ मुआवजा देने की घोषणा करना चाहिए। आपने कहा कि यह क्रूरतम हत्या है। पुलिस ने कानून हाथ में लिया है। दोषियों पर मर्डर केस की धारा लगना चाहिए। इसी के साथ प्रेस वार्ता में उपस्थित पत्रकार बंधुओं के द्वारा पूछे गये प्रश्नों के भी संतोषजनक उत्तर श्री थावरचन्द गेहलोद के द्वारा दिये गये।

प्रेस वार्ता में श्री थावरचन्द गेहलोद के साथ भाजपा नगर अध्यक्ष श्री गोपीकृष्ण नेमा, लोकसभा संयोजक व विधायक श्री रमेश मेंदोला, श्री उमेश शर्मा, श्री घनश्याम शेर, श्री जेपी मूलचंदानी, श्री आलोक दुबे भी उपस्थित थे।

Read More:सज्जन सिंह वर्मा के बिगड़े बोल, कहा – ‘मोदी चुनाव आयोग को जेब में रखकर चलते हैं’

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com