Breaking News

पेट रोग उपचार और बचाव के तरीके साझा करने जुटेंगे देश भर के गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजिस्ट

Posted on: 31 Aug 2018 14:08 by Ravindra Singh Rana
पेट रोग उपचार और बचाव के तरीके साझा करने जुटेंगे देश भर के गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजिस्ट

इंदौर: पेट से संबंधी ऐसी कई भ्रांतियां आम लोगों के मन में होती हैं।इन्हीं भ्रांतियों को दूर करने के लिए देश के नामी गैस्ट्रोएंटरोलॉजी ( पेट रोग विशेषज्ञ) दोदिनों के लिएशहर में जुट रहे हैं,इंडियन सोसाइटी ऑफ़ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी के मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ चैप्टर द्वारा दो दिवसीय नेशनल कांफ्रेंस का आयोजन 1 और 2 सितंबरको इंदौर के रेडिसन ब्लू होटल में किया जा रहा हैl जिसमें इस क्षेत्र के करीब 300 पेट रोग विशेषज्ञ शिरकत करेंगे।

Dr-Hari- Prasad- Yadav

ये सारे विशेषज्ञ यहां पर अपना नॉलेज एक दूसरे से शेयरकरेंगे और बताएंगे की पेट, लीवर और आँतों से जुडी समस्याओं और एंडोस्कोपी में क्या नया हो रहा है और क्या होने जा रहा है, किन किन विषयों पर रिसर्च हो रही है। इंडियनसोसाइटी ऑफ़ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी की वार्षिक रीजनल कांफ्रेंस हैं। इस कॉन्फ्रेंस का मूल उद्देश्य पेट रोग से सम्बंधित उपचार तकनीकों, दवाईयों और रिहेबिलिटेशनर की जानाकरीसभी गैस्ट्रोएंटरोलॉजीस्ट को उपलब्ध करवाना है।

कॉन्फ्रेंस के ऑर्गनाइज़िग सेक्रेटरी (गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजिस्ट मेदान्ता हॉस्पिटल)  डॉ हरि प्रसाद यादव ने बताया ये कांफ्रेंस इस तरह से ख़ास होने वाली है कि इसमेंगेस्ट्रोएन्टेरोलोजी फील्ड में देश की 10 बड़ी नामचीन फैकल्टीज अपने अनुभव साझा करेंगी साथ ही मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की 30 से अधिक फैकल्टीज अपने अनुभवों कोशेयर करेंगे l इस कॉन्फ्रेंस में जो नेशनल फैकल्टी शिरकत करेंगे वह है डॉ नरेश भटडॉ आकाश शुक्लाडॉ अनिल अरोराडॉ अरविंद सिंह सोइनडॉ डी नागेश्वर रेड्डीडॉ राजेशपूरी ,डॉ रणधीर सूदडॉक्टर सरोज कांत सिन्हाडॉ विनय धीर और डॉ विनीत आहूजा

Dr-Hari- Prasad- Yadav

आगे उन्होंने बताया – इसमें भाग लेने के लिए देश के नामी गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजिस्ट एक्सपर्ट डॉक्टर्स  रहे हैं। इंडियन सोसाइटी ऑफ़ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी के सभी सदस्य भी इसअवसर पर उपस्थित रहेंगे,इस कांफ्रेंस के माध्यम से मरीजों की सामान्य और गंभीर बीमारियों के संबंधित बीमारियों के प्रति जो भी भ्रांतियां हैं और क्या क्या नए उपचारउपलब्ध है जिन बीमारियों का इलाज पहले असंभव था अब काफी हद तक पेट की उन बीमारियों पर सफलतापूर्वक कार्य हुआ हैउसकी भी जानकारी इस कांफ्रेंस के माध्यम सेमिलेगी,इस कांफ्रेंस में जो भी सीनियर्स स्पीकर्स डॉक्टर्स  रहे हैं वह जो भी जूनियर डॉक्टर है उनकी जिज्ञासाओं उनके सवालों का जवाब देंगे। इस डेढ दिनी कॉन्फ्रेंस में कईनॉलेज सेशन्स,डिबेट्स होगी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com