Breaking News

गंगा दशहरे पर इन मंत्रों के जाप से दूर होंगे सारे दुख | Ganga Snan Dussehra 2019 Chanting of these Mantras will Overcome your Problems

Posted on: 11 Jun 2019 14:22 by rubi panchal
गंगा दशहरे पर इन मंत्रों के जाप से दूर होंगे सारे दुख | Ganga Snan Dussehra 2019 Chanting of these Mantras will Overcome your Problems

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार गंगा दशहरे को भी त्योहार की तरह ही पूजा जाता है। इस साल साल गंगा दशहरा कल यानि 12 जून को है। यह हर ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। माना जाता है कि इस दि नही मां गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था और तभी से मां गंगा को पूजने की परंपरा शुरू हो गई। यह भी मान्यता है कि इस दिन गंगा में स्नान करने और दान करने से सभी पाप धुल जाते हैं और मुक्ति मिलती है। आज हम आपको गंगा दशहरे के महत्व के बारे में बता रहे है। आइए जानते है क्या करना चाहिए इस दिन।

इन कार्यों से नष्ट होगे सारे पाप

इस दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठकर निकट के गंगा तट पर स्नान करना चाहिए। अगर आप गंगा नदी में स्नान करने में असमर्थ हैं तो अपने शहर की ही किसी नदी में स्नान कर सकते हैं। यदि यह भी संभव न हो सके तो घर में नहाने के जल में थोड़ा सा गंगाजल मिलाकर स्नान कर लें। इस दिन मां गंगा के स्पर्श से ही भक्तों के सारे पाप नष्ट हो जाते है और सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

इन मंत्रों का करें जाप

गंगा दशहरे के दिन गंगा को स्पर्श करने के साथ यदि कुछ मंत्रों का उच्चारण किया जाए तो आपको इस दिन का लाभ और भी जल्दी मिल जाएगा। इस दिन स्नान के दौरान ‘ऊँ नमः शिवाय नारायण्यै दशहराय गंगाय नमः’ मंत्र का जप करना चाहिए। इसके बाद ‘ऊँ नमो भगवते एं ह्रीं श्रीं हिलि हिलि मिलि मिलि गंगे मां पावय स्वाहा’ मंत्र का भी जप करें और जप करते हुए 10 फूल अर्पित करें।

10 का महत्व

यह गंगा दशहरा दशमी तिथि को आता है। यही कारण है कि इस दिन 10 अंक का महत्व बहुत ही ज्यादा रहता है इसलिए इस दिन पूजा में जिस भी सामग्री का प्रयोग करे वह संख्या में 10 होनी चाहिए। जैसे 10 दीये, 10 तरह के फूल, 10 दस तरह के फल आदि।

इस दिन 10 अंक के महत्व के कारण यदि आप दान करने वाली वस्तुओं में भी 10 संख्या का ध्यान रखें तो इसका फायदा हमारी जेब को भी होता है। गंगा दशहरा के पर्व पर दान-पुण्य का भी विशेष महत्व माना जाता है। गंगा दशहरा पर शीतलता प्रदान करने वाली वस्तुओं को दान करने का विशेष महत्व बताया गया है। इनमें आप ठंडे फल, पंखा, मटका, सत्तू को दान करने के लिए प्रयोग में ला सकते हैं। इस दिन घर में भगवान सत्यनारायण की कथा करवाने का भी विशेष महत्व माना जाता है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com