Breaking News

आज से PAYTM पर ट्रांजैक्शन करना होगा महंगा, लगेगा इतना चार्ज

Posted on: 01 Jul 2019 14:52 by Ayushi Jain
आज से PAYTM पर ट्रांजैक्शन करना होगा महंगा, लगेगा इतना चार्ज

नई दिल्ली : पेटीएम यूजर्स के लिए एक भूरी खबर है। 1 जुलाई यानी आज से पेटीएम अपने मर्चेंट डिस्काउंट रेट (MDR) का बोझ ग्राहकों पर डालेगी। बता दे की बैंक और कार्ड कंपनियां डिजिटल ट्रांजैक्शन के लिए मर्चेंट डिस्काउंट रेट लेते हैं। इसलिए पेटीएम प्रॉफिटेबल होने के लिए यह कदम उठाने जा रही है।

हर मोड से पेमेंट्स पर नए चार्ज –
पेटीएम ये नए चार्ज डिजिटल पेमेंट्स के हर मोड पर लागू करेगी। यानी वॉलिट टॉप अप करने से लेकर यूटिलिटी, बिल या स्कूल फीस पेमेंट और सिनेमा टिकट की खरीदारी तक पर चार्ज लगाएगी। सूत्रों के मुताबिक, इस तरह क्रेडिट काड्‌र्स के जरिए पेमेंट्स पर 1 प्रतिशत, डेबिट काड्‌र्स के लिए 0.9 प्रतिशत और नेट बैंकिंग और यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस के जरिए ट्रांजैक्शंस पर 12 से 15 रुपए तक का चार्ज होगा।

सॉफ्टबैंक और अलीबाबा ग्रुप से निवेश हासिल करने वाली पेटीएम अब तक इस चार्ज का बोझ खुद उठाती रही है और अपने प्लेटफॉर्म से होने वाले पेमेंट्स के लिए अतिरिक्त रकम नहीं लेती रही है। पिछले साल डिजिटल ट्रांजैक्शंस को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कहा था कि वह 2,000 रुपये तक के ट्रांजैक्शंस पर एमडीआर चार्जेज खुद वहन करेगी। यह नियम उन पेमेंट्स के लिए था, जो डेबिट कार्ड्स, भीम, यूपीआई या आधार एनेबल्ड पेमेंट सिस्टम से किए जाते थे।

जानिए क्या है MDR?
MDR वह फीस है, जो दुकानदार डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर आपसे लेता है। आप कह सकते हैं कि यह डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पेमेंट की सुविधा पर लगने वाली फीस है। एमडीआर से हासिल रकम दुकानदार को नहीं मिलती है। कार्ड से होने वाले हर पेमेंट के एवज में उसे एमडीआर चुकानी पड़ती है। क्रेडिट या डेबिट कार्ड से पेमेंट पर एमडीआर की रकम तीन हिस्सों में बंट जाती है।

Paytm Borrowing Account__1546855315_47.247.167.41

सबसे बड़ा हिस्सा क्रेडिट या डेबिट कार्ड जारी करने वाले बैंक को मिलता है। इसके बाद कुछ हिस्सा उस बैंक को मिलता है, जिसकी प्वाइंट ऑफ सेल्स (पीओएस) मशीन दुकानदार के यहां लगी होती है। अंत में एमडीआर का कुछ हिस्सा पेमेंट कंपनी को मिलता है। वीजा, मास्टर कार्ड और अमेरिकन एक्सप्रेस प्रमुख पेमेंट कंपनियां हैं।

अब भी कन्वीनिएंस फीस नहीं लेगी पेटीएम
पेटीएम ने कहा कि वह केवल एमडीआर का बोझ कन्ज्यूमर्स पर डाल रही है जो बैंक और कार्ड कंपनियां चार्ज करते हैं। उसने कोई कन्वीनिएंस फीस लेने से इन्कार किया। उसके प्रवक्ता ने कहा, ‘अगर कोई फीस ली जा रही हो, तो यह दरअसल मर्चेंट की ओर से कस्टमर पर एमडीआर का बोझ ट्रांसफर करने की बात है। पेटीएम कोई कन्वीनिएंस फीस नहीं लेती है और न ही कंज्यूमर्स से एमडीआर लेती है। भविष्य में इन्हें लेने की कोई योजना नहीं है।’

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com