बच्चों का दिमाग शार्प करने के लिए करें इन टिप्स को फॉलो

पैरंट्स हमेशा अपने बच्चों के लिए चिंता में रहते है उनके शारीरिक और मानसिक के लिए और अक्सर बच्चों के साथ ये परेशानी सबसे ज्यादा लगी रहती है।

0
51
baby

नई दिल्ली : पैरंट्स हमेशा अपने बच्चों के लिए चिंता में रहते है उनके शारीरिक और मानसिक के लिए और अक्सर बच्चों के साथ ये परेशानी सबसे ज्यादा लगी रहती है। ऐसा कहा जाता है की हम जिस तरह बच्चों को ढलते है बच्चे उस ही तरह ढल जाते है। यदि हम उन पर ध्यान नहीं दे पाते तो वह अक्सर बिगड़ जाते है। ऐसे में उनका दिमाग भी शार्प नहीं हो पाता है।

यदि हम अपने बच्चों पर पूरा ध्यान दें और उन्हें नई नई चीज़े टाइम के साथ सिखाते रहे तो उनका शारीरिक और मानसिक विकास कई गुना अच्छा हो जाता है। आज कल की जनरेशन मोबाइल में ही लगी रहती है जिसकी वजह से उनके दिमाग पर बुरी असर पड़ता है और इस पर घर वाले भी ध्यान नहीं देते है।

अगर छोटा बच्चा खाना नहीं खाता है तो आज कल के पैरंट्स बच्चों के सामने फ़ोन चालू कर के रख देते है जिससे उनकी फ़ोन चलते हुए खाना खाने की आदत पढ़ जाती है। इसका असर कहीं न कहीं उनके दिमाग पर भी पड़ रहा है।

इन टिप्स से रखे अपने बच्चों का दिमाग शार्प –

1 इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों से रखें दूर-
स्टडी के मुताबिक बच्चों को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से दूर रखना चाहिए ये इस लिए क्योंकि यदि हम उन्हें इसकी आदत लगा देते है तो उनके दिमाग पर इसका बुरी असर पड़ता है। जिसकी वजह से बाद में बच्चों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बच्चों को इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों की बजाए दूसरी चीजों में व्यस्त रखें ताकि उनके मस्तिष्‍क का विकास हो सके।

2 दोपहर की नींद जरूरी –
दोपहर में खाना खाने के बाद बच्चों को करीब एक घंटे की नींद लेने से मेमोरी अच्छी बनी रहती है। दिमाग को मजबूत बनाने और चीजें सीखने के लिए दोपहर की नींद बहुत जरूरी होती है। जो महिलाएं अपने नवजात बच्चे को बहुत प्यार देती हैं और उनके साथ अच्छा स्वभाव रखती हैं तो उन बच्चों का दिमाग तेज होता रहता है। दरअसल ऐसे बच्चों के दिमाग के हिप्पोकेंपस क्षेत्र में ज्यादा नर्व कोशिकाएं बनती हैं जिससे बच्चे का दिमाग तेज होता है।

3 शब्‍दों का खेल –
बच्चों का दिमाग बहुत तेज होता है यदि हम बचपन से ही उन्हें शब्दों का सही उच्चाराण और शब्दों का खेल सिखाये तो वह जल्द तो सिख जाते ही है साथ ही उनका दिमाग इससे और भी ज्यादा शार्प हो जाता है। दरअसल, आप अपने बच्चों को शब्दों के माध्यम से गाना और कविता पाठ भी सिखा सकते हैं।

4 टंग ट्विस्‍टर –
बच्चों के साथ खेलते समय आप उन्हें एक अच्छा-सा टंग ट्विस्टर सही तरीके से बोलने को कह सकते हैं। इससे बच्चों का दिमागी विकास होने के साथ साथ उनकी एकाग्रता भी बढ़ती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here