Breaking News

5 बार विधायक और 3 बार रह चुके प्रदेश मंत्री, 101 की उम्र में भी बिना चश्मे के पढ़ते हैं, बिना सहारे चलते हैं

Posted on: 04 Jun 2018 16:12 by Lokandra sharma
5 बार विधायक और 3 बार रह चुके प्रदेश मंत्री, 101 की उम्र में भी बिना चश्मे के पढ़ते हैं, बिना सहारे चलते हैं

भोपाल/ग्वालियर. ग्वालियर-चंबल अंचल ही नहीं, पूरे मध्यप्रदेश में लक्ष्मीनारायण गुप्ता को लोग नन्नाजी के नाम से जानते हैं। शिवपुरी जिले की पिछोर विधानसभा से पांच बार विधायक और तीन बार प्रदेश के मंत्री रह चुके गुप्ता 6 जून को 100 साल पूरे कर 101वें साल में प्रवेश कर रहे हैं। वे आज भी बिना चश्मे के पढ़ते हैं और बिना लाठी के सहारे चलते हैं। उनसे बातचीत के प्रमुख अंश …

100 साल की उम्र का राज

सुबह पांच बजे जागना। पहला काम बिना आईना देखे शेविंग करना। हॉल में करीब 20 मिनट घूमने के बाद घर के बाहर हॉकर द्वारा डाले गए अखबार को उठाकर पूरे दो घंटे तक पढ़ना। इसके बाद स्नान-ध्यान। ताउम्र चाय नहीं पी। बीड़ी, सिगरेट, पान, तंबाखू से दूर रहा। खुद को फिट रखने हर रोज सुबह 8 से 9 बजे के बीच एक गिलास दूध पिया और लहसुन की तीन कली खाने का सिलसिला जारी रखा। लहसुन ने आयुर्वेदिक औषधि का काम किया। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर रखी।
राजनीति में लोकहित सबसे ऊपर होता था

लक्ष्मीनारायण के मुताबिक, राजनीति बहुत बदल गई… राजनीति में अब बहुत बदलाव हो गए हैं। पहले राजनीति में लोकहित सबसे ऊपर होता था। जनप्रतिनिधि जनता की समस्याओं के निराकरण करने के लिए प्रतिबद्ध रहते थे। लेकिन अब राजनीति नोट कमाने के लिए होती है। राजनेताओं की प्राथमिकता सूची से लोकहित, जनता की बात और उनकी परेशानियों का निराकरण काफी पीछे हो गए हैं। सभी की प्राथमिकताओं की सूची में धनबल ने पहला स्थान हासिल कर लिया है।
राजनीति में लोकहित के लिए आया

विधायक और मंत्री रहते कई प्रलोभन आए। लोगों ने अपने काम के लिए दबाव भी डलवाया। फिर भी मैं भ्रष्ट नहीं हुआ। इसकी वजह क्षेत्र की जनता का भरोसा था। मतदाताओं ने मेरी ईमानदारी और जनता की परेशानियों के प्रति संवेदनशीलता को देकर चुना था। उनके भरोसे ने राजनीति में भटकने नहीं दिया।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com