Breaking News

गोविन्द मालू के पांच सवाल कांग्रेस से | Five questions of ‘Govind Malu’ from Congress

Posted on: 14 May 2019 18:05 by Mohit Devkar
गोविन्द मालू के पांच सवाल कांग्रेस से | Five questions of ‘Govind Malu’ from Congress
  1. कमलनाथ की कांग्रेस ने वादा किया था बेरोज़गारी भत्ता देने का, न कि बैंड बजाने, साँप पकड़ने और पशु चराने की ट्रेनिंग देने का ! 4 हज़ार रुपए बेरोजगारी भत्ता किसी बेरोजगार के खाते में जमा हुआ क्या ? नहीं हुआ, तो कब होगा ?
  2. भाजपा के शासनकाल में लोकसेवा आयोग की परीक्षाएं समय पर होकर नई पदस्थापनाएं हो जाती थी! इससे रोजगार मिलता था। लेकिन, कांग्रेस सरकार बेरोजगारी का शोर मचाते हैं ! 22 लाख सरकारी नौकरी देने का वादा करते हैं! लेकिन प्रदेश में फ़रवरी तक हो जाने वाली पी.एस.सी.की परीक्षा का अभी तक नोटिफिकेशन ही जारी नहीं हुआ! क्या कांग्रेस के घर में पश्चिम की खिड़कियाँ हैं, जहाँ से सूर्यास्त के अलावा कुछ दिखाई ही नहीं देता ?
  3. बोफ़ोर्स के दलाल क्वात्रोची को जब इंटरपोल के वारंट के आधार पर गिरफ्तार करके भारत को सूचित किया गया तो तत्कालीन यूपीए सरकार ने मलेशिया सरकार को उसे रिहा करने के लिए पत्र लिखा? सुप्रीम कोर्ट ने क्वात्रोची के बैंक खातों को फ्रीज़ कर दिया, तो तत्कालीन कानून मंत्री हंसराज भारद्वाज तत्काल ब्रिटेन गए और सभी खाते डी-फ्रीज़ करवा दिए! कहा कि सुप्रीम कोर्ट से भारत सरकार बड़ी है। उस दौरान 10 मिनट में क्वात्रोची ने 900 करोड़ रूपए अपने बेटे के खाते में ट्रांसफर करवा दिए ! तब कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी की, तो कानून मंत्री को इस्तीफा देना पड़ा ! लेकिन, ऐसी क्या मज़बूरी थी कि (सोनिया गाँधी ने) उन्हें तत्काल कर्नाटक का राज्यपाल बनवा दिया ? कुछ तो राज है, इस सारी कवायद में !
  4. भ्रष्ट और लचर प्रशासन पर कांग्रेस ने क्या किया? स्वतंत्र भारत में 1951 में एन.डी.गोरेवाला की रिपोर्ट ‘लोक प्रशासन पर प्रतिवेदन’ के सुझाव आए ! लेकिन, क्रियान्वयन नहीं हुआ ! 1952 में प्रशासनिक सुधारों पर विचार के लिए ‘पॉल एपिलबी’ के नेतृत्व में “भारत में लोक प्रशासन सर्वेक्षण का प्रतिवेदन’ प्रस्तुत किया । लेकिन, नतीजा वही जड़ता रहा, आखिर क्यों ? 19 साल बाद 1966 में हनुमंतैया की अध्यक्षता में प्रशासनिक सुधार आयोग बना । पहला प्रतिवेदन 20 अक्टूबर 1966 में और अंतिम रिपोर्ट 1970 में ! इसका भी क्या हुआ पता नहीं ? 35 साल बाद सितम्बर 2005 में वीरप्पा मोइली के नेतृत्व में दूसरा आयोग बना, इसकी भी रिपोर्ट का पता नहीं ? इस दौरान कांग्रेस की सरकारें रही, इस सबका क्या हुआ और क्या किया ? जवाब दें ? पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी ने इसकी पुष्टि भी की थी कि दिल्ली से एक रुपया चलता है, तो नीचे 15 पैसे पहुँचता है ! शायद कांग्रेस ही नही चाहती कि प्रशासन भ्रष्टाचार मुक्त हो ?
  5. पाकिस्तान की भाषा बोलने वाले प्रो.तारिक़ हमीद क़ारा को कांग्रेस में किसने शामिल किया ? पाँच लाख कश्मीरी पंडितों का पलायन, अत्याचार और बलात्कार किसके शासनकाल में हुआ ?

(गोविन्द मालू)
पूर्व उपाध्यक्ष
म.प्र.राज्य खनिज विकास निगम

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com