Breaking News

गोविन्द मालू के कांग्रेस से पांच सवाल | Five Questions from Congress of Govind Malu

Posted on: 14 May 2019 18:16 by Mohit Devkar
गोविन्द मालू के कांग्रेस से पांच सवाल | Five Questions from Congress of Govind Malu

10 मई 2019

  1. मुंबई बम धमाकों के अपराधी याकूब मेमन, जिनके हाथ मासूमों के खून से सने थे, उसकी फाँसी रुकवाने के पत्र पर दिग्विजयसिंह ने हस्ताक्षर किए थे ! क्या इसमें काँग्रेस की सहमति थी ?
  2. ओसामा बिन लादेन के शव को समुद्र में फेंकने के बजाए उसे दफ़नाया जाना चाहिए था! ये सुझाव दिग्विजय का था या काँग्रेस का ? ओसामा ‘जी’ संबोधित कर दिग्विजयसिंह ने उसे सम्मान क्यों दिया ?
  3. बाटला एनकाउंटर को कोर्ट ने सही बताया था, तो दिग्विजयसिंह उसके बाद भी उसे फर्जी क्यों बताते रहे ? इसमें जांबाज अधिकारी मोहन शर्मा ने सीने पर गोली खाई थी ! क्या मोहन शर्मा की शहादत को काँग्रेस षड्यंत्र मानती है ?
  4. अजीज़ बर्नी ने अपनी क़िताब में लिखा था कि मुंबई पर हुए 26/11 हमले के पीछे आरएसएस का हाथ था! इस किताब का विमोचन दिग्विजयसिंह करते हैं ! क्या विमोचन से पहले उन्होंने आरएसएस की जिम्मेदारी की सही रिसर्च की थी ? क्या आज भी काँग्रेस मानती हैं कि 26/11 के पीछे आरएसएस का हाथ था ?
  5. दिग्विजयसिंह सरकार के समय हुए चर्चित झिरन्या विदेशी हथियार काण्ड के “खान बन्धुओं” को तब कांग्रेस ने निर्दोष बताया जबकि गुजरात पुलिस ने कहा था दाऊद, छोटा शक़ील सहित हथियार काण्ड को प्रदेश का राजनैतिक संरक्षण है । बावजूद इसके दिग्विजयसिंह 15 अगस्त 1995 को प्रदेश के सन्देश में कहते हैं
    “यँहा अल्पसंख्यक असुरक्षा की भावना से पीड़ित होते हैं, इसलिए हथियारों का जमाव करते हैं।”
    ऐसे लोगों, 1992 के दंगों के सिध्द आरोपियों से मुस्लिम लीग समर्थित काँग्रेस(वायनाड़) ,अभी चुनाव प्रचार कराकर,पार्टी का पदाधिकारी बनाकर ,ऐसे दंगाइयों को चुनाव लड़ाकर ,राष्ट्र द्रोह की धारा हटाने का संकल्प लेकर क्या सिध्द करना चाहती है ?

गोविन्द मालू
पूर्व उपाध्यक्ष
म.प्र.राज्य खनिज विकास निगम

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com