Breaking News

बरमूडा ट्रायंगल में 11 दिन फंसा रहा मछुआरा, जिंदा रहने के लिए पीता था खुद का पेशाब

Posted on: 14 Jun 2019 14:35 by Mohit Devkar
बरमूडा ट्रायंगल में 11 दिन फंसा रहा  मछुआरा, जिंदा रहने के लिए पीता था खुद का पेशाब

आप सभी ने बरमूडा ट्रायंगल के बारे में तो सुना ही होगा. यह एक ऐसा ट्रायंगल है जहां जो भी जाता है वह कभी लौटकर नहीं आ पाता. सिर्फ इतना ही नहीं इस ट्रायंगल के ऊपर आसमान से भी कोई प्लेन गुज़रता है तो वह भी गायब हो जाता है. लेकिन हाल ही में चीनी मछुआरा नियान सिंघुआ 11 दिनों तक इस ट्रायंगल में रहने के बाद सही सलामत घर वापस आ गया है. ख़बरों के मुताबिक, सिंघुआ चीन के दक्षिण-पूर्व तटीय से 63 किलोमीटर पिंगटन में करीब 11 दिनों से फंसे हुए थे. उन्होंने मीडिया को बताया कि, उन्होंने जिंदा रहने के लिए अपने ही पेशाब को पिया और मछलियों के लिए लाया गया चारा. 11 दिन बाद उन्हें एक कार्गो शिप की मदद से रेस्क्यू किया गया.

बता दें कि, एशिया के बरमूडा ट्रायंगल में 2016 में करीब 85 जहाज लापता हो गए थे. इसके बाद दक्षिण चीन सागर के समुद्री भाग को जापान, फिलीपीन्स और इंडोनेशिया ने एशिया का बरमूडा ट्रायंगल घोषित कर दिया था. वास्तविक बरमूडा ट्रायंगल उत्तर अटलांटिक महासागर का हिस्सा है. इसे ‘डेविल्स ट्रायंगल’ भी कहा जाता था. ऐसा कहा जाता है कि, यहां जो भी जाता है वह कभी वपस नहीं आ पाता. लेकिन सिंघुआ का वापस लौट आना किसी चमत्कार से कम नहीं है.

बता दें कि, बीते कुछ सालों में इस ट्रायंगल में हजारों जहाज़ डूब गए हैं और एयर प्लेन भी हजारों की संक्या में गायब हो चुके हैं. इस ट्रायंगल का रहस्य अभी तक कोई वैज्ञानिक नहीं सुलझा पाया. इस ट्रायंगल के इलाके में जो चीज़ आती है वह एक रहस्यमय तरीके से गायब हो जाती है.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com