नईदिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने सिंगापुर के मंगलवार को ऐतिहासिक शिखर बातचीत ख़तम हुई। एक दूसरे को खुले तौर पर परमाणु युद्ध और सबक सिखाने की धमकी देने वाले दुनिया के दो दिग्गज नेताओं ने आज सारी दूरियां मिटाकर एक दूसरे से हस कर हाथ मिलाया और हसकर बातचीत की गई।

इस बैठक का मुख्य उद्देश्य द्विपक्षीय संबंधों को सामान्य बनाना और कोरियाई प्रायद्वीप में पूर्ण निरस्त्रीकरण था।करीब 50 मिनट तक चली यह बैठक सिंगापुर के सैंटोसा द्वीप के होटल कपैला में हुई। बैठक के बाद दोनों नेता बालकनी में साथ बाहर आते दिखे और हाथ हिलाकर अभिवादन किया।

बैठक के बाद ट्रंप ने तहा कि किम के साथ उनकी बैठक बहुत अच्छी संपन्न हुई और साथ ही विश्वास जाहिर किया की वह और किम किसी भी बड़ी समस्या या उलझन को समाप्त सकते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों नेता साथ में जबरदस्त सफलता हासिल कर सकते है और यह भी विश्वास जताया कि ऐसा एक दिन जरूर आएगा।

इस तरह की चर्चित शिकार वार्ता 25 वर्ष पहले हुए थी, अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पहल पर इस्राइली प्रधानमंत्री इत्जाक राबिन और फलस्तीन नेता यासिर अराफात के बीच एक शिखर वार्ता हुई थी, यह वार्ता की पूरे विश्व में चर्चित हुई थी, दोनों नेता दुश्मन देश इस शिखर वार्ता में शांति स्थापित करने और एक-दूसरे के अस्तित्व को स्वीकर करने पर सहमत हुए थे।

Cover images source

LEAVE A REPLY