शिवराज काल के ई टेंडर घोटाले को लेकर FIR दर्ज

0
79

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों के यहां हुई छापेमारी के बाद राज्य सरकार ने जवाबी कार्रवाई की है। प्रदेश में शिवराज काल में हुए हजारों-करोड़ों के ई-टेंडर घोटाले मामले में बुधवार को पांच विभागीय अफसरों और तत्कालीन नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। यह FIR ई-टेंडर घोटाले, फर्जी वेबसाइट, माखनलाल यूनिवर्सिटी (एमसीयू) और सांसद निधि खर्च में आर्थिक गड़बड़ियों और सांसद विकास निधि के खर्च में मनमानी के मामलों में दर्ज की गई है।

E tender

जल निगम, पीडब्ल्यूडी, एमपी रोड़ डेवलपमेंट कारपोरेशन, जल संसाधन के साथ 7 कंपनी के डायरेक्टर इसमे शामिल बताए जा रहे है। आईपीसी की धारा 420, 468,471, 120 b, it act 66, PC act 7(c), 13(2) में मामला दर्ज किया गया है।

ई टेंडर घोटाला मामले में डीजी ईओडब्ल्यू के एन तिवारी ने कहा कि जनवरी 2018 से मार्च 2018 में हुए इस घोटाले में पांच विभागों के 9 टेंडर की कीमत से छेड़छाड़ हुई है। ई टेंडर के जरिए सात कंपनियों को दायदा पहुंचाया गया है। इसमें सौ से ज्यादा टेंडर देखने वाले अधिकारी-कर्मचारी शामिल है। कंपनियों के डायरेक्टर और मार्केटिंग कर्मचारियों पर एफआईआर दर्ज की गई है। इस एफआईआर में अज्ञात नौकरशाह और राजनेता भी शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here