Breaking News

60 साल बाद इटली नहीं खेल रहा वर्ल्ड कप, टॉप-10 की इकलौती टीम चिली विश्व कप से बाहर

Posted on: 08 Jun 2018 08:23 by krishna chandrawat
60 साल बाद इटली नहीं खेल रहा वर्ल्ड कप, टॉप-10 की इकलौती टीम चिली विश्व कप से बाहर

नई दिल्ली : रूस में 14 जून से शुरू होने वाले फीफा वर्ल्ड कप में अब 7 दिन ही बचे हैं। ऐसे में सभी की निगाहें इसमें भाग लेने वाली टीमों पर लगी हुईं हैं। फुटबॉल प्रशंसक अभी से गणित लगाने लगे हैं कि किस टीम का दावा कितना मजबूत है। वहीं, इसकी भी चर्चा है कि आखिर 4 बार की विश्व कप विजेता इटली और फीफा रैंकिंग की टॉप-10 टीमों में शामिल चिली फुटबॉल के इस महाकुंभ में भाग लेने के लिए क्यों नहीं क्वालीफाई कर सके।

इटली ने पहली बार 1934 में फुटबॉल विश्व कप में भाग लिया था, तब से अब तक 84 साल के इतिहास में महज 3 मौके ही ऐसे आए हैं, जब ‘अजूरी’ के नाम से प्रसिद्ध यह टीम वर्ल्ड कप में भाग नहीं ले सकी है। वहीं, 2015 और 2016 में लगातार दो बार कोपा अमेरिका कप जीतने वाली चिली का भी वर्ल्ड कप में न उतरना प्रशंसकों को निराश कर रहा है। 2010 में फाइनल खेलने वाली नीदरलैंड भी इस वर्ल्ड कप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी है। हालांकि, पेरू इस बार 36 साल बाद विश्व कप में अपनी चुनौती पेश करेगा।italiaविपक्षी के हिसाब से रणनीति बनाती थी इटली
विश्व कप में जब भी इटली खेलने उतरी है तब-तब देखा गया कि उसके खिलाड़ी विपक्षी के हिसाब से अपनी रणनीति बदलते रहते थे। इटली के खिलाड़ी स्पेन की तरह सिर्फ छोटे-छोटे पास नहीं खेलते। अगर विपक्षी लंबे पास की रणनीति बनाता तो वे छोटे-छोटे पास करने लगते थे। तभी तो 1990 में लगातार 5 मुकाबलों में उन्होंने कोई गोल नहीं खाया। इस मामले में वे स्विट्जरलैंड के साथ शीर्ष पर हैं।golइटली ने 2002 से लेकर 2014 तक लगातार 15 मैच में गोल किए। वे विश्व कप में सबसे ज्यादा गोल करने के मामले में चौथे स्थान (128 गोल) पर हैं। इटली ने 1934, 1938, 1982 और 2006 में खिताब अपने नाम किया। वे ब्राजील के बाद सबसे ज्यादा खिताब जीतने के मामले में जर्मनी के साथ दूसरे नंबर है। इटली के पूर्व कप्तान और गोलकीपर जियांलुइगी बुफोन ने 2006 विश्व कप में लगातार 4 मैच में 460 मिनट तक कोई गोल नहीं खाया था। इस बार टीम के क्वालीफाई न करने पर उन्होंने संन्यास ले लिया।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com