Breaking News

पिता ने बेटे की शादी के कार्ड पर लिखवाया कुछ ऐसा, पढ़कर सभी हो गए हैरान

Posted on: 30 Jun 2018 06:05 by Ravindra Singh Rana
पिता ने बेटे की शादी के कार्ड पर लिखवाया कुछ ऐसा, पढ़कर सभी हो गए हैरान

उत्तरप्रदेश: आज के ज़माने में सादी को हर कोई दिलचस्प बनाना चाहता है, हर कोई चाहता है की उसकी शादी की यादगार रहे, चाहे शादी में महंगे जेवर खरीदना हो या फेशनेबल कपड़े। दूल्हा और दुल्हन में से कोई भी अपनी पसंद से समझौता नहीं करना चाहता। आजकल तो शादी में आसमान में दूल्हा-दुल्हन का वर माला डालना, प्लेन से दूल्हे का आना और एयर बैलून में शादी करने जैसी बात भी नार्मल हो गई हैं। लेकिन क्या कभी आपने सुना है कि किसी ने शादी के कार्ड में कुछ ऐसा लिखवाया हो, जिससे वह चर्चा का विषय बन जाए। बिलकुल हां सीतापुर के मिश्रिख में एक किसान अपने बेटे की शादी कर रहा है। यहां तक तो ठीक है, लेकिन आगे हम आपको जो बताएंगे उससे आप थोड़ा चौक जरूर हो सकते हैं। दरअसल इस किसान ने अपने बेटे की शादी का जो कार्ड छपवाया है, उस पर एक कुछ अनोखा लिखवाकर वह चर्चित है।

सीतापुर के मिश्रिख में बलियापुर गांव के रहने वाले किसान कैलाश प्रसाद के बेटे का तिलक इसी महीने 19 जून को और शादी 23 जून को होनी है। बेटे की शादी के लिए छपवाए कार्ड में किसान ने बड़े साफ शब्दों में लिखवाया है कि शराब पीकर बारात में आना सख्त मना है। समाज को नई सीख देने वाले किसान का ये कदम काफी सुर्खियां बटोर रहा है। दरअसल आज के जमाने में कुछ लोग मार्डन होने का दिखावा करने के लिए शादी या अन्य दूसरी पार्टियों में जमकर शराब पार्टी करते हैं। कभी-कभी तो ये शराब ही शादी की खुशियों को मातम में बदल देती है। इस किसान ने नए जमाने के ऐसे ही लोगों को इस कार्ड के माध्यम से आईना दिखाया है, और बताया है कि शराब सिर्फ शरीर को ही नहीं बल्कि माहौल को भी खराब करती है।

कैलाश प्रसाद ने जब शादी के ये कार्ड अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के घर पहुंचाया तो सभी इसे देख हैरान थे। क्योंकि किसान ने कार्ड पर सबसे ऊपर ही शादी में शराब पीकर बारात में न आने का अनुरोध लिखवाया है। कई लोग किसान की इस सोच का सम्मान करते हुए उसकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। तो कुछ लोग कार्ड पर लिखी इन लाइनों से नाराज भी हैं। लेकिन कैलाश का मानना है कि कि शादी या किसी अन्य पार्टी में शराब की वजह से अक्सर बवाल होता है। जिससे लोग परेशान तो होते ही हैं, सारी खुशियों पर पानी भी फिर जाता है। कैलाश के मुताबिक शादी दो जिंदगियों का मिलन है और किसी भी काम के आगाज में कोई बुराई शामिल नहीं की जानी चाहिए। इसी विचार से मैंने शादी के कार्ड पर यह संदेश छपवाया है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com