Breaking News

उद्योगपति गए पीड़ा बताने, डीआईजी ने दी नसीहत

Posted on: 10 May 2018 11:46 by Praveen Rathore
उद्योगपति गए पीड़ा बताने, डीआईजी ने दी नसीहत

इंदौर। औद्योगिक क्षेत्रों में ट्रकों की तिरपाल काटकर हो रही चोरी की वारदातें और हफ्तावसूली और फिरौती मांगने की समस्या को लेकर परेशान उद्योगपति जब डीआईजी से मिले तो उन्होंने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया, लगे हाथ उद्यमियों को ये सलाह भी दे डाली कि अपनी गाडिय़ां या ट्रक ऐसे स्थान पर पार्क करवाएं, जहां सीसीटीवी कैमरे लगे हों, ताकि कोई घटना हो जाए तो फुटेज के आधार पर कार्रवाई की जा सके।
दरअसल उद्योग संगठन एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज मध्यप्रदेश का प्रतिनिधि मंडल तिरपाल काटकर हो रही चोरी की वारदातों के संबंध में रेसीडेंसी पर जिले के प्रभारी मंत्री जयंत मलैया से मिले, उसके बाद मलैया के कहने पर डीआईजी से मिलने गए उद्यमियों ने उन्हें ज्ञापन सौंपा।
डीआयजी ने कहा कि संबंधित थाना प्रभारियों को जांच के आदेश दे दिये हैं और वे हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा, जहां सीसी टीवी फुटेज उपलब्ध हो सकते हंै, वहां के फुटेज लिये जा रहे है, कार्यवाही हो रही है। बेटमा थाना प्रभारी भी हाल ही में हुई घटना की जांच कर रहे है। पूर्व में भी हुई कुछ घटनाओं में हमें सफलता मिली है तथा माल की बरामदगी हुई है।
डीआईजी ने उद्यमियों को लगे हाथ सलाह दी कि आप अपने ट्रांन्सपोर्टरों को भी बताएं कि वे अपने ट्रकों की पार्किग ऐसी जगहों पेट्रोल पंपों या अन्य स्थानों पर करें, जहां सीसीटीवी कैमरे लगे हों, ताकि कोई घटना हो जाए तो जांच त्वरित हो सके।
जबरिया वसूली और फिरौती से परेशान
प्रतिनिधिमंडल में शामिल उद्योगपति सुधीर जायसवाल ने उनके ऊपर कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा लगाये गये आरोपों, एफआयआर आदि मामलों के संबंध में डीआईजी को जानकारी दी और न्याय दिलाने का अनुरोध किया। जायसवाल ने डीआयजी को बताया कि विगत् कुछ समय से मुझे अनावष्यक रूप से कुछ लोगों द्वारा तंग किया जा रहा है तथा झूठे आरोप लगाकर विभिन्न्न थानों में प्रकरण दर्ज कराये जा रहे हैं और लाखों रुपए की फिरौती की मांग की जा रही है इससे मै परेशान हूं। डीआयजी ने कार्रवाई करने का आश्वसन दिया है। प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष आलोक दवे, उपाध्यक्ष प्रकाश जैन पूर्व अध्यक्ष हेमंत मेहतानी सहसचिव तरूण व्यास, अनिल पालीवाल आदि अन्य उद्योगपति उपस्थित थे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com