एक्सक्लूसिव: जैसे हो वही प्रेजेंट करो – अरबाज खान 

दबंग सीरीज़ से सलमान खान को सबका चहेता चुलबुल पांडे बनाने वाले प्रोड्यूसर अरबाज़ खान इन दिनों कई छोटे बजट की फ़िल्मों में नज़र आ रहे हैं।

0
17

दबंग सीरीज़ से सलमान खान को सबका चहेता चुलबुल पांडे बनाने वाले प्रोड्यूसर अरबाज़ खान इन दिनों कई छोटे बजट की फ़िल्मों में नज़र आ रहे हैं। अक्सर उनकी तुलना बड़े भाई सलमान खान से की जाती है,  ऐसे में सलमान के छोटे भाई अरबाज़ कैसे इस तुलना और स्टारडम से ख़ुद को बचाते हैं।  चलिए उनसे जुड़ी कुछ बाते आपको शेयर करते हैं।

मलाइका और आपका रिश्ता आइडियल था लेकिन बिखर गया और उसके बावजूद आप दोनों अच्छे दोस्त है। इस पर अरबाज़ ने कहा, ”देखिए रिश्ता हमारा वाक़ई अच्छा था लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं कर सकता कि मेरे और मलाइका के बीच सब ठीक नहीं चल रहा था और कुछ नहीं हुआ. हम दोनों के बीच काफ़ी कुछ ठीक नहीं चल रहा था लेकिन हमारा बेटा एक ऐसी कड़ी है जो हमें आज भी जोड़े हुए है. हम दोनों दोस्त हैं और अपनी-अपनी ज़िंदगी में आगे बढ़ रहे हैं।

जब हमने अरबाज़ से छोटी बजट की फिल्मो में काम करने को लेकर पूछा तोह उनका कहना था , अब देखिए कौन नहीं चाहता कि राजकुमार हिरानी, संजय लीला भंसाली और करण जौहर की फ़िल्मों में काम करे. लेकिन अब इनकी फ़िल्मों के ऑफ़र कब आएंगे, इसके लिए ख़ाली बैठा रहूं तो जो काम मैं कर रहा हूं ये भी नहीं कर पाऊंगा, सिर्फ़ इंतज़ार मैं ही बैठा रहूंगा. अब मेरा करियर धकेल कर चल रहा है, या जैसे भी चल रहा है लेकिन चल रहा है और मैं इससे बहुत ख़ुश हूं। 

अरबाज़ ने हंसते हुए कहा, ”अब अगर मैं आपसे कहूं कि मैं उस डायरेक्टर के साथ काम कर रहा हूं या मैंने कई फ़िल्में साइन की हैं तो आप भी समझ जाएंगे कि मैं झूठ बोल रहा हूं. क्योंकि झूठ को पहचानना बहुत आसान है. फ़िल्म इंडस्ट्री में लोग अपनी इमेज बनाने के चक्कर में यह सब करते हैं, लेकिन मैं नहीं कर सकता क्योंकि हमारी परवरिश ऐसी नहीं हुई. हमें बचपन से सिखाया गया है कि जैसे हो वही प्रेजेंट करो।

उनके करियर को लेकर पूछने पर उन्होंने कहा बड़ी ही सहजता से जबाब देते हुए कहा कि अब देखिए कौन नहीं चाहता कि राजकुमार हिरानी, संजय लीला भंसाली और करण जौहर की फ़िल्मों में काम करे. लेकिन अब इनकी फ़िल्मों के ऑफ़र कब आएंगे, इसके लिए ख़ाली बैठा रहूं तो जो काम मैं कर रहा हूं ये भी नहीं कर पाऊंगा, सिर्फ़ इंतज़ार मैं ही बैठा रहूंगा. अब मेरा करियर धकेल कर चल रहा है, या जैसे भी चल रहा है लेकिन चल रहा है और मैं इससे बहुत ख़ुश हूं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here