Indore के पूर्व कलेक्टर Nishant Warwade के बुरे दिन | Bad days of Nishant Varwade, former Collector of Indore

0
317
nishant_varvade

अर्जुन राठौर

ऐसा लगता है कि इंदौर के पूर्व कलेक्टर निशांत वरवड़े के बुरे दिन शुरू हो गए। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद इंदौर के कलेक्टर पद से निशांत वरवड़े को हटा दिया गया था। उन्हें राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संचालक पद पर नियुक्त किया गया था।

आज का भारत निडर, निर्भीक और निर्णायक, बोले- मोदी

लेकिन मात्र 2 महीने की अवधि में अब उन्हें इस पद से हटाकर मानव अधिकार आयोग का सचिव बना दिया गया है। पता भी चला है कि निशांत वरवड़े से मुख्यमंत्री से लेकर इंदौर के मंत्री तुलसी सिलावट तथा सज्जन सिंह वर्मा भी नाराज थे और यही वजह है कि अब उन्हें मानव अधिकार आयोग का सचिव बनाया गया है। यह एक ऐसा विभाग है जो लूप लाइन का माना जाता है और आम तौर पर यहां पर रिटायर अधिकारियों की नियुक्ति की जाती है।

must read: इंदौर: सीएम ने उपलब्ध कराये बेडमिंटन हाँल

यह भी कहा जा रहा है सीएम सचिवालय से जो निर्देश दिए गए थे उसके पालन में भी निशांत वरवड़े ने लापरवाही की और उनके विभाग की प्रमुख सचिव पल्लवी जैन ने भी उनके खिलाफ रिपोर्ट दी।

must read: ताई के खिलाफ कविराज के तेवर ने कांग्रेस में बढ़ा दिए टिकट के दावेदार

यही वजह है कि निशांत वरवड़े को अब मानव अधिकार आयोग सौंप दिया गया है।

लेखक वरिष्ठ पत्रकार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here