एक मजबूत लोकतंत्र के लिए हर वोट कीमती होता है | Every Vote is Valuable for Strong Democracy

0
14

नीरज राठौर

लोकसभा के आखरी राउंड की वोटिंग प्रतिशत के आंकड़े टीवी पर देख रहा हूं। हमारे भारत देश में औसतन 50% से 60% ही मतदान (Voting) होता दिख रहा है। लोग वोटिंग के लिए इतने उत्साहित है कि सुबह से फेसबुक एवं सोशल मीडिया पर वोट दिए लोग अपनी ऊँगली दिखाकर सेल्फी पोस्ट कर रहे है। लोकतंत्र में जनता के वोट इसमें छोटी-बड़ी राजनैतिक पार्टियो व निर्दलीय उम्मीदवारों में बंटते या पड़ते हैं। जिसको भी 10%-20% वोट पड़ जाते हैं वो जीत जाता है।

अत: आज कल के नेता शराब पिलाकर व पैसे बाँट कर इन 10 से 20% लोगो को अपने प्रभाव से वोट करवा लेते हैं व चुनाव जीत जाते है जिस कारण ऐसे लोग चुनकर आते है जो पूर्णतया भ्रष्ट होते है व जिनका चुनाव (Election) जीतने का एकमात्र उदेश्य सत्ता पाना और धन कमाना होता है, तथा चुनाव जिंतने के बाद वह अगले 5 वर्ष तक देश के संसाधनों का खूब शोषण करते है व खूब भ्रष्टाचार करते है।

मतदान में एक-एक वोट का महत्व होता है। यह किसी को नहीं सोचना चाहिए कि कोई जीते उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है। वोट न देने से लोकतंत्र की नींव कमजोर होती है। एक वोट छूटने से नींव का एक पत्थर टूटता है।

अब यदि इस वर्तमान भ्रष्ट व्यवस्था को बदलना है तो देश के लोगो को यह भी समझना होगा की आज हमारे देश में जो भ्रष्ट व्यवस्था चल रही है व चारो और जो अव्यवस्था का वातावरण है उसका एक बहुत बड़ा कारण हमारा चुनाव के दौरान मतदान नहीं करना है, यदि सभी लोग मतदान करेंगे तो वही लोग चुन कर देश के सत्ता में आयेंगे जो देश व आम जनता के लिए काम करेंगे।

तो अब उन लोगो को बाहर निकल कर मतदान करना होगा जो या तो राजनीती से इसलिए दूर है क्योंकि वह वर्तमान राजनेताओ से पूरी तरह निराश हो चुके है व यह मान बैठे है के अब कुछ नहीं हो सकता, आप और हम औरे आप जैसे जागृत लोगो को उन लोगो को समझाना होगा व मतदान करने के लिए प्ररित करना होगा ताकि भ्रष्ट व बईमान लोग दोबारा चुन कर न आ सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here