‘अली‘ और ‘बजरंग अली‘ वाले बयान पर घिराए CM योगी | CM Yogi surrounded on Statement of ‘Ali’ and ‘Bajrang Ali’

0
50
yogi-adityanath

लोकसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग के बाद अब दूसरे चरण के मतदान के लिए राजनीतिक पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक दी है। चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी के स्टार प्रचारक एक-दूसरे पर हमला करने से नहीं चूक रहे हैं। इसी बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को चुनावी सभा में वोट मांगने की अपील भारी पड़ गई। चुनाव आयोग ने दोनों नेताओं को आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में नोटिस जारी जवाब मांगा है।

चुनाव आयोग के मुताबिक यूपी सीएम योगी ने मेरठ में रैली के दौरान ‘अली‘ और ‘बजरंग अली‘ वाली टिप्पणी पर नोटिस देकर जवाब मांगा है। दरअसल, मेरठ में आयोजित चुनावी सभा में योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर कांग्रेस, सपा, बसपा को अली पर विश्वास है तो हमें भी बजरंग बली पर विश्वास है। चुनाव आयोग ने इस बयान को प्रथम दृष्टया आचार संहिता का उल्लंघन माना है।

mayawati

इधर, देवबंद की चुनावी रैली में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मुस्लिमों से सपा-बसपा गठबंधन को वोट देने की अपील की थी। इस मामले में शिकायत मिलने के बाद चुनाव आयोग ने नोटिस देकर जवाब मांगा है। गौरतलब है कि दोनों नेताओं को शुक्रवार शाम तक जवाब देना है।
Read More : चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई: जब्त किया 1551 करोड़ का अवैध सामान | Election Commission seized illegal goods of 1551 crore

भाजपा के थीम सॉन्ग पर चुनाव आयोग की कैंची

लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा को चुनाव आयोग ने बड़ा झटका लगा है। आयोग ने चुनाव प्रचार के लिए बनाए गए भाजपा के थीम सॉन्ग पर रोक लगा दी है। पश्चिम बंगाल में मतदाताओं को लुभाने के लिए पार्टी ने इस गाने को कंपोज किया गया था। इस गाने को पश्चिम बंगाल के आसनसोल से बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने तैयार किया है।

must read: मायावती का हमला, भीड़ देख पगला जाएंगे पीएम मोदी | Mayawati addressing rally in Deoband UP

TMC ने की शिकायत

भाजपा द्वारा प्रचार के लिए बनाए गए इस थीम सॉन्ग की शिकायत पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग में दर्ज कराई थी। टीएमसी ने दावा किया था कि गायक बाबुल सुप्रियो द्वारा गाया और कंपोज किया गया गाना बिना सर्टिफिकेशन के सोशल मीडिया पर जारी किया गया था।

चुनाव आयोग ने जारी किया नोटिस

चुनाव आयोग ने इस मामले पर कहा कि भाजपा द्वारा जारी किया गया थीम सॉन्ग पूर्व प्रमाणित नहीं था। आयोग ने पिछले महीने चुनाव आयोग ने इस मामले में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया था। आयोग के मुताबिक़ बिना इजाजत इस गाने को कई जगह पर बजाया जा रहा था। पश्चिम बंगाल में 3 अप्रैल को हुई बीजेपी की दो रैलियों में भी इस गाने को बजाने की अनुमति नहीं दी थी।

must read: चुनाव से पहले कांग्रेस की छवि ख़राब करने की कोशिश कर रही भाजपा: शोभा ओझा | BJP trying to Defective the image of Congress before elections: Shobha Ojha

ममता बनर्जी को आयोग का जवाब

पश्चिम बंगाल में आईपीएस अफसरों के तबादले किए जाने को लेकर ममता बनर्जी द्वारा लिखे पत्र का चुनाव आयोग ने जवाब दिया है। आयोग ने कहा कि स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान के लिए आयोग हमेश ऐसे फैसले लेता रहा है। दरअसल, चुनाव आयोग ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर अनुज शर्मा सहित चार आईपीएस अधिकारियों के तबादला कर दिया था।

ममता बनर्जी में अपने पत्र में चुनाव आयोग के इस फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण, अत्यधिक मनमाना, प्रेरित और पक्षपाती कहा था। इतना ही नहीं ममता ने आयोग ने अपने इस फैसले पर विचार करने के लिए भी कहा था। ममता बनर्जी ने पत्र में ये भी कहा था कि लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री ने एक टीवी शो में बयान दिया था कि बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब है और इसीलिए 7 चरणों में चुनाव का आदेश दिया गया है।

must read: PM मोदी बोले- ‘गजनी‘ की तरह वादे कर भूल जाती है कांग्रेस | PM Modi says – Congress will promises like ‘Ghajini’ and then forget

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here