डाबर समूह पर ईडी का शिकंजा, बीस करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क

0
9

नई दिल्ली। ईडी ने एफएमसीजी प्रोडक्ट बनाने वाले अग्रणी डाबर समूह पर शिकंजा कसा है। विभाग ने फेमा कानून के तहत डाबर समूह के डायरेक्टर प्रदीप बर्मन की बीस करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी कुर्क कर ली है। आपको बता दें कि यह कार्रवाई ईडी ने कुछ साल पहले एचएसबीसी की लीक सूची में नाम होने के आधार पर की है।

ईडी का कहना है कि बर्मन पर विदेशी विनिमय प्रबंधन कानून (फेमा) के तहत कार्रवाई की है। ईडी ने जो प्रॉपर्टी कुर्क की है, उसमें हुडको और आईआरएसफसी के हजार करमुक्त बॉन्ड भी शामिल हैं। इसके अलावा समूह पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में भी मामला चल रहा है। एजेंसी ने कहा कि ये संपत्तियां तब कुर्क की गईं जबकि यह सामने आया कि बर्मन ने स्विट्जरलैंड के ज्यूरिख में एचएसबीसी बैंक में ३२.12 लाख डॉलर जमा कराए थे, जो बेहिसाबी यानी कालेधन के रूप में है। उल्लेखनीय है कि बर्मन डाबर इंडिया लि., सनत प्रोडक्स लि. एंड आयुर्वेद , रत्ना कमर्शियल एंटरप्राइजेज में निदेशक हैं। इसके अलावा वह बर्मन परिवार के ट्रस्ट डॉ. एस के बर्मन चैरिटेबल ट्रस्ट में न्यासी भी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here