इस मुस्लिम देश के कड़े फैसले से पाकिस्तान में फिर छाएगी कंगाली

0
38
pakistan-min

नई दिल्ली: पाकिस्तान की मुसिबते खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। अब पाकिस्तान की मुसिबतों की वजह उसका पड़ोसी मुल्क अफगानिस्तान हो सकता है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान के व्यापारियों ने अपनी सरकार से मांग की है कि पाकिस्तान और ईरान के लिए फल और सब्जियों पर निर्यात शुल्क बढ़ाया जाए।

अफगानिस्तान कि मीडिया के अनुसार व्यापारियों ने कहा कि वर्तमान में घरेलू बाजार में ईरानी और पाकिस्तानी फलों और सब्जियों की भरमार है जबकि ये सभी आफगानिस्तान में भी होते हैं। एक व्यापारी अशरफ ने कहा, ‘जब हमारे फलों का मौसम आता है, पाकिस्तान भारी शुल्क लगा देता है और हमें अपने उत्पादों को कम दाम पर बेचना पड़ता है’। व्यापारियों ने सरकार से नाराजगी जताते हुए यह भी कहा कि घरेलू उत्पादकों को बढ़ाने पर सरकार का कोई खास ध्यान नहीं है।

अफगानिस्तान में आलू कि फसल का मौसम आ गया है, लेकिन बाजार नहीं होने के चलते उन्हें परेशानियां हो रही है, जिससे आलू 12 अफगानी (0.15 डॉलर) प्रति किलोग्राम में बिक रहा है। इसके अलावा एक और व्यापारी का कहना है कि ‘ईरान और पाकिस्तान के उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ाया जाना चाहिए। यह स्वयं सरकार के पक्ष में है। अगर अधिक शुल्क नहीं होगा तो इसका खामियाजा घरेलू कृषि बाजार को भुगतना पड़ेगा’।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here