इन चीज़ों से करें शनिदेव को खुश, बरसेगा धन

0
33
shani

अगर आप ज्योतिष शास्त्र में विश्वास रखते हैं या इस विषय में थोड़ी भी जानकारी हैं तो ज्योतिष शास्त्र द्वारा बताए गए 9 ग्रहों के बारे आप में जानते होंगे। साथ ही यह भी जानते होंगे कि ये ग्रह कैसे व्यक्ति के जीवन को प्रभावित करते हैं। आज हम इन्हीं में से एक ग्रह शनि की बात कर रहे हैं। शनिदेव को न्याय के देवता कहा जाता है, वे जातक को उसके कर्मों के अनुसार फल प्रदान करते हैं। कहा जाता हैं शनि भगवान कर्मों के अनुसार ही फल देते हैं।

शनि देव अपने भोग काल में उन्हीं को नुकसान पहुंचाते हैं जिनके कर्म बुरे होते हैं। वैसे तो शनि देव को प्रसन्न करने का सबसे सरल तरीका, अपने कर्मों को सुधारना है, किन्तु दान से भी शनि देव प्रसन्न होते हैं। तो आइए हम आपको बताते हैं कि कौन सी 10 वस्तुएं दान करने से आप शनि देव को प्रसन्न कर सकते हैं। अगर आप शनि महाराज को प्रसन्न करना चाहते हैं तो काले चने, काले कपड़े, जामुन का फल, काली उड़द आदि वस्तुएं दान कर सकते हैं।

shanidev

इसके अतिरिक्त काले जूते, तिल, लोहा, तेल, नीलम, कस्तूरी या भैंस आदि का दान भी शनिदेव से संबंधित है। इन वस्तुओं के दान से शनि की कृपा आसानी से मिल जाती है। साथ ही यदि किसी जातक की कुंडली में शनि की साढ़ेसाती हो, साथ ही शनि की दशा, अंतर्दशा हो और शनि वक्री भी हो तो ऐसे जातक का जीवन बर्बाद हो जाता है। उसका घर, परिवार, आय के साधन सभी शनि की चपेट में आ जाते हैं। धीरे-धीरे करके मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ता है।

ऐसे में शनि साढ़ेसाती के साथ दशा, अंतर्दशा और इस ग्रह के वक्री होने का भी उपाय किया जाता है। शनि साढ़ेसाती के लिए घोड़े की नाल का छल्ला दाहिने हाथ की मध्यम अंगुली में शनिवार के दिन शनि मंत्र का उच्चारण करने के पश्चात धारण किया जाता है। उसके बाद इन उपायों पर भी दे ध्यान काली गाय की सेवा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं। हर शनिवार उपवास रखें, सूर्यास्त के बाद हनुमानजी का पूजन करें। पूजन में सिंदूर, काली तिल्ली का तेल, इस तेल का दीपक एवं नीले रंग के फूल का प्रयोग करें।

शनिवार के दिन हनुमानजी को चोला चढ़ाएं। चोले में सरसो या चमेली के तेल का उपायोग करें और इन तेलों से ही दीपक भी जलाएं। शनिवार का दिन हनुमान जी का भी विशेष दिवस माना जाता है, इस दिन हनुमान जी की पूजा के साथ सात बार हनुमान चालिसा का पाठ करने से शनिदेव प्रसन्न रहते हैं। शनिवार के दिन काली उड़द, तेल, काला कंबल, काला कपड़ा या फिर लोहे की चीजें ब्राहमण को दान में देनी चाहिए। शनिवार के दिन जितना हो सके काले रंग के कपड़े पहनें। शनिवार के दिन व्रत भी रखें और एक समय भोजन करें और दूध और जूस का सेवन करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here