Breaking News

हनुमान जी की ऐसी तस्वीर भूल कर भी न लगाएं घर में, जानिये क्यों?

Posted on: 20 Jun 2018 16:20 by Lokandra sharma
हनुमान जी की ऐसी तस्वीर भूल कर भी न लगाएं घर में, जानिये क्यों?

कहा जाता है, हिंदू धर्म संसार का सबसे पुराना धर्म है. इस धर्म में मूर्ति पूजा को सर्वोच्च सम्मान दिया जाता है. माना जाता है यह हिंदूओं का देवताओं के प्रति भक्ति की भावना का प्रतीक है. दुनिया में हिन्दू ही एकमात्र धर्म है जो ‘मूर्ति’ पूजा का समर्थन करता है. हिंदू धर्म में एक ‘मूर्ति’ को दैवीय ऊर्जा के प्रतिक के रूप में माना जाता है. इन मूर्तियों की पुजा करके हिंदू अपने सम्मान की पेशकश करते हैं.

वहीं हिंदू ग्रंथों के अनुसार घर में, कुछ ‘मुर्ति’ या देवताओं और देवियों की मूर्तियों, विशेष रूप से विनाश के हथियारों के समान, युद्ध की स्थिति या धार्मिक तरीके से हिंसा को बढ़ावा देने वाली तस्वीरों को लगाना वर्जित माना गया है. इसके अलावा ऐसा माना जाता है कि ऐसी मूर्तियां घर की सकारात्मक ऊर्जा को खत्म करती हैं और नकारात्मकता को बढ़ावा देती हैं.

वहीं अगर भगवान हनुमान की बात करें तो वे ऐसे हिंदू देवता हैं जिन्हें हमेशा संरक्षित किया जाता है और संरक्षक के रूप में माना जाता है और जो हनुमान जी अपने भक्तों के कल्याण को स्थापित करते हैं. इसके अलावा यह उनके भक्तों के बीच एक लोकप्रिय धारणा है कि केवल उनका पवित्र नाम किसी भी प्रकार के भुत प्रेत के डर को ख़त्म कर देता है. इसके अलावा कई हिंदू हनुमान की मूर्तियों और छवियों को अकेले या भगवान राम और सीता के साथ स्थापित करते हैं ताकि वे अपनी पवित्र उपस्थिति अपने घरों में ला सकें.

मगर आपको बता दें कुछ मूर्तियां ऐसी भी हैं, जिन्हें घर में रखे जाने पर घर में कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं. ऐसी ही एक मूर्ति होती है जिसमें हनुमान अपने छाती खोले रहते हैं और उनमें सीता और राम नजर आते हैं. हालांकि यह तस्वीर या मूर्ति उनकी भक्ति का प्रतीक है लेकिन हमें ये तस्वीर या मूर्ति घर में स्थापित नहीं करनी चाहिए.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com