छठ पूजा में भूल से भी न करें ये काम, झेलना पड़ेगा सूर्यदेव का प्रकोप

0
113

कार्तिक माह में आने वाले छठ पर्व का महत्व वैसे तो देशभर में माना जाता है लेकिन उत्तर भारत में इसका महत्व ज्यादा ही है। छठ पूजा का यह पर्व चार दिनों तक चलता है। छठ पूजा में सूर्य की पूजा की जाती है। मान्यता है कि सूर्य देव की कृपा से घर में धन-धान्य का भंडार रहता है साथ ही छठी माई संतान प्रदान करती हैं।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार किसी भी पूजा और व्रत के लिए कुछ नियम होते है जिनता पालन जरुर किया जाना चाहिए। आइए जानते हैं कि छठ पूजा में किन बातों को जरूर ध्यान में रखना चाहिए और किन कामों को करने से परहेज रखना चाहिए।

1- छठ पूजा में सफाई का बहुत महत्व है। ध्यान रहें छठ पूजा का प्रसाद बनाने वाली जगह साफ-सुथरी होनी चाहिए। प्रसाद को गंदे हाथों से न तो छूना चाहिए और न ही बनाना चाहिए।

2- सूर्य भगवान को जिस बर्तन से अर्घ्य देते हैं, वो चांदी, स्टेनलेस स्टील, ग्लास या प्लास्टिक का नहीं होना चाहिए। इसे अशुभ माना जाता है।

3- छठ पूजा का प्रसाद उस जगह पर नहीं बनाना चाहिए जहां खाना बनता हो। पूजा का प्रसाद मिट्टी के चूल्हे पर ही पकाएं।

4- छठ व्रतियों को बिस्तर पर नहीं सोना चाहिए। व्रत करने वाली महिलाओं को फर्श पर चादर बिछाकर सोना चाहिए।

5- छठ पूजा के दौरान सात्विक भोजन करें। लहसुन-प्याज के सेवन से दूर रहें. इन्हें घर पर भी न रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here