Breaking News

जादू करो बाबा, संसद पंहुचा दो

Posted on: 02 May 2019 17:14 by Parikshit Yadav
जादू करो बाबा, संसद पंहुचा दो

नई दिल्ली। चुनावी उम्मीदवार इन दिनों तांत्रिकों, ज्योतिषियों व अघोरी बाबाओं के संपर्क में हैं। तमाम उम्मीदवार जीत की 100 फीसदी गारंटी के लिए तंत्र सिद्ध साधनाएं, अघोरी क्रिया और अनुष्ठान चुपचाप करा रहे हैं। टोटके भी आजमा रहे हैं। झाड़-फूंक वाले बाबाओं के दरबारों में हाजिरी भी लगा चुके हैं।आप सुन कर हैरान होंगे कि कुछ बड़े पंडितों ने इसके लिए बहुत से राजनीतिकों से जप कराने का ठेका लिया हुआ है। कई राजनीतिकों के शुभचिंतक सेठ या उद्योगपति यह जप करा रहे हैं। इसके लिए जिस राजनीतिक के नाम से जाप कराया जा रहा है, उसका छुआ हुआ अक्षत (चावल) मंगा लिया जा रहा है। उसका गोत्र, पिता का नाम, घर का पता पूछ लिया जा रहा है। इस सबकी जरूरत संकल्प, मंत्र जाप, पूजा-पाठ, पूर्णाहुति में पड़ती है।हालांकि, इस बारे में कोई भी न तो अपना और न ही अपने तांत्रिक या बाबा का नाम जाहिर करना चाहता हैसूत्रों का कहना है कि ऐसे तांत्रिक अनुष्ठानों को कराने के लिए बाकायदा दिल्ली में कई बड़े ज्योतिषी, बाबा और सूफी अपना कारोबार चमका रहे हैं। इनके मार्फत तंत्र-मंत्र, अघोर साधनाएं हो रही हैं। बाहर से भी कई तांत्रिकों, पंडितों व जाप करने वालों को दिल्ली बुलाया गया है। ज्योतिषियों के मुताबिक इन दिनों दिल्ली के कई मंदिरों के अलावा मध्यप्रदेश में तांत्रिकों की नगरी कहे जाने वाले उज्जैन, राज योग व दुश्मनों को परास्त करने वाला दतिया का बहुचर्चित बगलामुखी मंदिर, सिद्ध पुरुषों की भूमि ऋषिकेश, अघोर साधना के लिए प्रख्यात कामाख्या मंदिर जैसी जगहों पर विशेष अनुष्ठान चल रहे हैं।ऐसे ही दिल्ली से करीब साढ़े चार सौ किलोमीटर दूर दतिया है, जहां विश्व विख्यात बगलामुखी मंदिर है। इन्हें राज सत्ता की देवी माना जाता है। राज सत्ता की कामना रखने वाले भक्त यहां आकर गुप्त पूजा-अर्चना कराते हैं। शत्रु नाश की अधिष्ठात्री देवी हैं और राज सत्ता प्राप्ति में पूजा का विशेष महत्व प्रचलित है। इन दिनों सबसे ज्यादा वहीं पर तांत्रिक अनुष्ठान चल रहे हैं। ऐसे अनुष्ठानों का हवाला देकर 50 हजार से 75 हजार रुपए वसूले जा रहे हैं। संस्कृत विद्यालयों, महाविद्यालयों से बटुकों, छात्रों को लाया जा रहा है। प्रतिदिन सात घंटे जप के लिए 1000 से 1500 रुपए की डिमांड है। साधना के लिए जाप करने वालों की दो शिफ्ट चल रही हैं। कुछ इसी तरह मजारों की शरण भी ली जा रही है। इसके लिए एक उम्मीदवार पिछले दिनों एक चर्चित धर्म गुरु के पास पहुंचे। कहा कि बाबा, आप सिर पर हाथ रख दें तो संसद पहुंचने से कोई रोक नहीं सकता। कुछ देर सोचने के बाद बाबा ने कहा कि तुम्हारा नक्षत्र खराब है। प्रत्याशी महोदय फिर भी जिद पर अड़ गए। इस पर बाबा ने आशीर्वाद तो दिया, लेकिन बेमन से।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com