देवउठनी एकादशी पर कर लें इनमे से कोई भी उपाय, भगवान विष्णु की बरसेगी कृपा

0
226

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी भगवान विष्णु को समर्पित है। इस एकादशी को देवउठनी या देवोत्थान एकादशी भी कहा जाता है। इस दिन श्रीविष्णु की पूरे विधि-विधान से पूजा की जाती है। मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु अपनी चार महीने की नींद से जागते हैं। बताया तो ये भी जाता है कि इस दिन सभी देवता जागते हैं। इसी दिन के बाद से सारे शुभ और मांगलिक काम भी शुरू हो जाते हैं।

इस दिन है देवउठनी एकादशी

देवउठनी एकादशी इस साल 8 नवंबर को पड़ रही है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार देवश्यनी एकादशी के बाद से सभी शुभ कार्य बंद हो जाते हैं। जो की देवउठनी एकादशी पर ही आकर वापिस से शुरू होते हैं। कार्तिक मास में आने वाली इस एकादशी को देवोत्थान, देवउठनी या प्रबोधिनी एकादशी भी कहते हैं।

इस दिन विष्णु भगवान की खास तरह से पूजा भी की जाती है। इस दिन कुछ उपाय करके आप भगवान विष्णु को प्रसन्न कर सकते हैं। देवउठनी एकादशी पर करें ये 5 उपाय।

1- देवउठनी एकादशी के दिन घर में दिये जरुर जलाएं। चूंकी इस दिन भगवान विष्णु जागते हैं तो उनका दीया जलाकर स्वागत करना चाहिए। इससे श्रभगवान प्रसन्न होते है।

2- देवउठनी एकादशी के दिन घर में तुलसी का विवाह जरूरी कराएं। इससे विष्णु भगवान काफी प्रसन्न होते हैं। साथ ही भगवान विष्णु ऐेसे परिवार को हमेशा सुख समृद्धि का आशीर्वाद देते है।

3- एकादशी के दिन सूर्योदय से पहले उठें और भगवान विष्णु की पूजा करें तथा रात में तक जागकर श्री हरि का कीर्तन करें।

4- एकादशी के दिन नमक और चावल से बनें किसी भी तरह के खाद्य पद्वार्थ का सेवन ना करें।

5- देवउठनी एकादशी के दिन गाय को भोजन जरूर कराएं। साथ ही ब्राह्मणों को दान-दक्षिणा दें।

शुभ मुहूर्त

इस साल देवउठनी एकादशी कार्तिक मास की शुक्लपक्ष तिथि में 8 नवंबर 2019 को है देवउठनी एकादशी शुभ मुहूर्त कुछ इस तरह है। तिथि प्रारम्भ- 7 नवम्बर 2019 को सुबह 9 बजकर 55 मिनट से अगले दिन दोपहर 12 बजकर 24 तक एकादशी तिथि है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here