दिग्विजय सिंह बोले, आतंकी मसूद को भी श्राप दे साध्वी प्रज्ञा

0
38
digvijay singh-

भोपाल लोकसभा सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह और भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा के बीच मुकाबला रोचक हो गया है। इस सीट पर देशभर की निगाहें टिकी हुई है, इसी के चलते सियासत भी तेज हो गई है। एक कार्यक्रम के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को श्राप दे दें तो पाकिस्तान में दोबारा सर्जिकल स्ट्राइक करने की कोई जरूरत ही नहीं पड़ेगी।

दरअसल, पिछले दिनों भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि मेरे श्राप के कारण महाराष्ट्र एटीएस चीफ शहीद हेमंत करकरे की मौत हुई है। हेमंत करकरे 2008 के मुंबई आतंकी हमले में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए थे। कार्यक्रम के दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई सब भाई हैं, लेकिन आजकल ऐसी चर्चाएं हो रही है कि देश खतरे में है और हिंदुओं को एकजुट हो जाना चाहिए। मैं ऐसी चर्चाएं करने वाले लोगों से कहना चाहता हूं कि इस देश पर मुस्लिमों ने करीब 500 साल राज किया है, उस दौरान किसी भी तरह की हानि नहीं हुई। लोगों को धर्म बेचने वाले लोगों से सावधान रहने की जरूरत है।

Read More : वाराणसी से नहीं मिला टिकट तो यहां से संसद पहुंचने की तैयारी में प्रियंका

करकरे पर दिए बयान से पलटीं प्रज्ञा

लोकसभा चुनाव में भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने शहीद हेमत करकरे पर दिया बयान वापस ले लिया है. साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि मैं हेमंत करकरे पर दिया बयान वापस लेती हूं.| उनके बयान को लेकर सियासी भूचाल आ गया था और भाजपा ने इस बयान से खुद को अलग कर लिया था|

बता दें कि, साध्वी ने गुरुवार को आईपीएस अधिकारी हेमंत करकरे पर विवादास्पद बयान दिया था जिसकी चारों तरफ निंदा हो रही थी. दूसरी तरफ आज भाजपा ने भी अपना बयान देकर इसे साध्वी प्रज्ञा का निजी बयान बता दिया. बयान को लेकर उनके पक्ष में कोई सामने नहीं आया. आखिर शुक्रवार शाम होते होते उन्होंने बयान वापस ले लिया|

भाजपा ने शुक्रवार को साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस बयान से दूरी बनाई कि आईपीएस अधिकारी हेमंत करकरे उनके द्वारा दिए श्राप की वजह से 26-11 के मुंबई आतंकी हमलों के दौरान मारे गए थे. भाजपा ने कहा कि यह उनकी निजी राय है जो सालों तक उन्हें मिली शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना की वजह से हो सकती है|

Read More:बीजेपी ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान से झाड़ा पल्ला, बताया निजी विचार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here