जी टीवी के फेमस डांस रियलिटी शो ‘डांस इंडिया डांस सुपर मॉम्स’ का तीसरा सीजन सुपरहिट साबित हुआ. बीती रात यानी 25 सितंबर 2022 को इसका ग्रैंड फिनाले था. इस सीजन की ट्रॉफी हरियाणा की रहने वाली वर्षा बुमरा ने जीती. उन्होंने शुरू से आखिर तक अपने डांस परफॉर्मेंस से जजेस से लेकर ऑडियंस तक को हैरान कर दिया था. उन्होंने सभी कंटेस्टेंट को पीछे छोड़ अपने सिर पर ‘डीआईडी सुपर मॉम्स’ का ताज अपने सिर पर सजाया.

डांस इंडिया डांस के इस सीजन को कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा , एक्ट्रेसेस भाग्यश्री और उर्मिला मातोंडकर ने जज किया, जबकि जय भानुशाली इसके होस्ट रहे. ग्रैंड फिनाले में वर्षा को ट्रॉफी के साथ 7.5 लाख रुपये प्राइज मनी मिले. वर्षा एक दिहाड़ी मजदूर हैं, जो दिन में 400 से 500 रुपये कमाती थीं. उन्होंने मजदूर से लेकर डांस शो के स्टेज तक का सफर बहुत मुश्किल से पूरा किया.

 

वर्षा बुमरा ने 7.5 लाख रुपये प्राइज मनी मिलने पर ईटाइम्स संग बातचीत में कहा, “मैंने कभी एक लाख रुपये कमाने का सपना नहीं देखा था, इसलिए सात लाख कमाना सच नहीं लगता है.” वर्षा ने इंटरव्यू में बताया कि, वह इन पैसों से अपने बेटे को अच्छी एजुकेशन देंगी. वह उसकी सभी इच्छाओं को पूरी करेंगी.

 

 

वर्तिका झा हैं वर्षा बुमरा की डांस गुरु

वर्षा बुमरा कोरियोग्राफर वर्तिका झा को अपना गुरु मानती हैं. उनके डांस वीडियोज को देखकर और सीखकर वह डीआईडी के मंच तक पहुंचीं. उन्होंने कहा, “जब मैंने सोशल मीडिया पर कोरियोग्राफर वर्तिका झा के वीडियो देखे तो मुझे डांस में दिलचस्पी हो गई. मैं उनके वीडियो देखकर 10 मिनट तक डांस करती थी. मैं जन्मजात डांसर नहीं हूं और ना मैंने ट्रेनिंग ली है.” बहरहाल, अब उनका सपना सच हो गया.

रेमो डिसूजा बने मददगार

वर्षा बुमरा ने बताया कि, जब वह डीआईडी के मंच पर अपना डांसिंग हुनर दिखाने आईं तो उन्हें साहूकारों के द्वारा खूब परेशानी उठानी पड़ी. उन्होंने कहा, “जब लोगों ने मुझे शो में देखा तो जिन साहूकारों से हमने पैसे उधार लिए थे, वे मुझे परेशान करने लगे. तभी मुझे जजों को बताना पड़ा कि मैं फोकस नहीं कर पा र