जहरीली हवा से बेहाल दिल्ली-NCR, 40 फीसदी लोग जाना चाहते हैं अन्य शहर

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ते जा रहा है। कई क्षेत्रों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 1200 पार कर गया है। ऐसे में दिल्लीवासियों के कई सांस लेने समेत कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में लोग अब दिल्ली छोड़ना चाह रहे हैं। एक सर्वे के अनुसार दिल्ली-एनसीआर के 40 फीसदी लोग शहर छोड़ना चाहते हैं।

0
71

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ते जा रहा है। कई क्षेत्रों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 1200 पार कर गया है। ऐसे में दिल्लीवासियों के कई सांस लेने समेत कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में लोग अब दिल्ली छोड़ना चाह रहे हैं। एक सर्वे के अनुसार दिल्ली-एनसीआर के 40 फीसदी लोग शहर छोड़ना चाहते हैं।

बता दे कि ये सर्वे दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम, गाजियाबाद और फरीदाबाद में किया गया था। इस दौरान 17,000 लोगों की राय ली गई। दिल्ली-एनसीआर के लोगों से सवाल किया गया केंद्र और राज्य सरकारों ने प्रदूषण को लकर बीते 3 सालों में जिस तरह से योजनाएं चलाई, क्या वे काफी हैं। इसमें से 40 फिसदी स्थानीय लोगों ने ने कहा कि वे दिल्ली-एनसीआर को छोड़कर कहीं और जाना चाहेंगे।

इनमें से 31 फीसदी लोगों का कहना है कि वे एयर प्यूरीफायर, मास्क, पौधों के साथ दिल्ली-एनसीआर में रहेंगे। जबकि 16 फीसदी का कहना है वे दिल्ली-एनसीआर में ही रहेंगे। प्रदूषण के दौरान वे यात्रा भी करेंगे। वहीं, 13 फीसदी लोगों ने कहा कि वे यहां दिल्ली-एनसीआर में ही रहेंगे। प्रदूषण से निपटने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

गैस चैंबर बनी राजधानी

बता दे कि दिल्ली-एनसीआर में हुई बारिश के बाद आज हवा की स्तर बेहद खतरनाक बना हुआ है। कई क्षेत्रों में एयरक्वालिटी इंडेक्स 900 के पार पहुंच गया है। वहीं गाजियाबाद में एक्यूआई 1241 पर पहुंच गया है, इसके अलावा दिल्ली के अलीपुर में एयर क्वालिटी इंडेक्स 900, नरेल में 986, आनंद विहार में 979 पहुंच गया है।

खबरों की माने तो पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के सीमातर्वी क्षेत्रों में पराली जलाने पर दिल्ली की हवा में जहर घुल रहा है। पर्यावरण वैज्ञानिकों के मुताबिक ये सब हवा के डायरेक्शन के चलते हो रहा है, क्योंकि हरियाणा और पंजाब जैसे राज्यों से हवा दिल्ली की ओर आ रही है तो शायद उसमें पराली का धुंआ और ज्यादा लाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here