धर्म संसद का फैसला, 21 फरवरी से अयोध्या में मंदिर निर्माण

0
14

प्रयागराज में चल रहे कुंभ में जगतगुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती द्वारा बुलाई गई परम धर्म संसद में बुधवार को यह फैसला लिया गया कि 21 फरवरी को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुरू किया जाएगा. साधु-संत अयोध्या कूच करेंगे और इस दिन मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास किया जाएगा.दूसरी ओर विश्व हिन्दू परिषद् भी प्रयागराज कुंभ में धर्म संसद आयोजित करने जा रही है। यह धर्म संसद 31 जनवरी से शुरू होगी और 1 फ़रवरी तक चलेगी। इस संसद में लिए जाने वाले फैसले पर भी निगाहे लगी हुई हैं.

इस बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि बीजेपी चाहती है जल्दी से जल्दी अयोध्या में रामजन्मभूमि पर मंदिर बने. उन्होंने फिर आरोप लगाया कि राम मंदिर निर्माण पर कांग्रेस अडंगा डाल रही है.

संतों के तीखे तेवर

बुधवार को हुई परम धर्म संसद में शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती के उपस्थिति में संतों ने अब तक मंदिर निर्माण न हो पाने को लेकर तीखे तेवर दिखाए। उनके निशाने पर मोदी सरकार रही. इस संसद में कहा गया कि मंदिर के लिए जो शिलान्यास की तारीख तय की गई है उस वक्त साधु-संत अयोध्या पहुंचेंगे। रोके जाने पर गोली खाने के लिए साधु-संत तैयार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here