कंगाली की कगार पर Air india, सैलरी देने के नहीं है पैसे

0
33
airindia

नई दिल्ली: जेट एयरवेज के बाद अब एक और एयरलाइन कंपनी कंगाली की कगार पर पहुंच गई है। कर्ज में डूबी पब्‍लिक सेक्‍टर की एयरलाइन कंपनी एअर इंडिया के कर्मचारियों को भी आने वाले दिनों में सैलरी के लिए जूझना पड़ सकता है। सरकारी अधिकारियों ने जानकारी देते हुए कहा कि एयर इंडिया के पास अक्टूबर के बाद कर्मचारियों को सैलरी देने का पैसा नहीं है।

गौरतलब है कि हाल ही में सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL ने भी कर्मचारियों को सैलरी देने के लिए सरकार से मदद मांगी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ एक अधिकारी ने बताया कि सरकार ने एअर इंडिया को 7,000 करोड़ की रकम पर सॉवरन गारंटी दी थी और कंपनी के पास अब 2,500 करोड़ रुपये बचे हैं।

अधिकारियों के मुताबिक़ एयर इंडिया के पास बचे 2500 करोड़ रुपये तेल कंपनियों, एयरपोर्ट ऑपरेटरों और अन्य वेंडर्स का बकाया चुकाने के अलावा कुछ महीनों की सैलरी देने में खर्च हो जाएंगे।अनुमान लगाया जा रहा है कि अक्‍टूबर के बाद एअर इंडिया को सैलरी संकट से जूझना पड़ सकता है।

देरी से दे रही सैलरी

अधिकारियों के मुताबिक़ एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया पिछले कुछ महीनों ने अपने कर्मचारियों को सैलरी कुछ दिनों की देरी से दे रही है। मई में भी एयर इंडिया ने कर्मचारियों को सैलरी 10 दिन की देरी से दी थी। बता दें कि एअर इंडिया हर महीने सैलरी पर 300 करोड़ रुपये खर्च करती है।

विविनेश की कोशिश कर रही सरकार

सरकार लंबे समय से एयर इंडिया के विविनेश की कोशिश कर रही है लेकिन इसके लिए कोई मनमाफिक खरीददार नहीं मिल पा रहा है। हाल ही में सदन में भारी उद्योग और लोक उद्यम मंत्री अरविंद गणपत सांवत ने एअर इंडिया के विनिवेश को लेकर जानकारी दी है।

बता दें कि एयर इंडिया को इस वित्त वर्ष में 9हजार करोड़ रुपये के कर्ज का भुगतान करना है। कंपनी ने इस पर सरकार की मदद मांगी है, लेकिन उसके स्वीकार किए जाने की संभावना कम है। सरकार इस एयरलाइन में अपनी 76 फीसदी हिस्‍सेदारी बेचना चाहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here