Breaking News

करोड़ों के घोटालेबाज पर सरकार मेहरबान क्यों?

Posted on: 13 Jan 2019 12:37 by Surbhi Bhawsar
करोड़ों के घोटालेबाज पर सरकार मेहरबान क्यों?

भोपाल: अफसरों को राजपूत क्यों कहा जाता है। यह अब पता चला क्योकि संघ और भाजपा से जुड़े शराब अफसर संजीव दुबे ने करोड़ों का घोटाला किया। उन पर कार्रवाई करने की बजाय धार जैसे ख़ास जिले की जिम्मेदारी दे दी।

मामला कुछ यूं है इंदौर में शराब ठेकेदारों के बैंक चालान में हुए कथित 42 करोड़ के घोटाले में संजीव दुबे शामिल थे। इसलिए उन्हें सस्पेंड किया गया. तब नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने दुबे के खिलाफ मोर्चा खोला था। दुबे बदनाम अफसरों में रहे हैं। उन्होंने अपनी पत्नी को संघ विचारधारा पर पीएचडी करवाई थी। उस समय के ग्वालियर आईजी प्रमोद वर्मा से उनके निजी रिश्तों को लेकर भी सोशलमीडिया पर कई चर्चाए थी। भोपाल के चुना भट्टी इलाके में बनी कोठी क्ल्किसी महाराज को दिए जाने की खबर है।

भोपाल में चर्चा है कि दुबे को मुख्यमंत्री सचिवालय से जुड़े अफसर का संरक्षण मिल गया है। शराब विभाग के मुखिया मनोज श्रीवास्तव को तो हटा दिया लेकिन दुबे को आखिर इनाम क्यों मिल गया इसके पीछे बड़े लेन-देन की चर्चा है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com