खेलों के महाकुंभ में शामिल हो सकता है क्रिकेट, इस फाॅर्मेट खेले जाएंगे मैच!

0
45

लंदन। ओलम्पिक खेलों में क्रिकेट को शामिल करने की मांग लंबे समय से की जा रही है। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट को ओलम्पिक में शामिल करने की वकालत की थी और उन्होंने ने टी-20 या टी-10 फाॅर्मेट में क्रिकेट को ओलम्पिक में शामिल करने का सुझाव दिया था।

इसी बीच एक खबर सामने आ रही है कि 2028 में लांस एंजेल्स में होने वाले ओलम्पिक खेलों में क्रिकेट को शामिल किया जा सकता है। इस पर तेजी से विचार-विमर्श किया जा रहा है। एमसीसी क्रिकेट समिति के चेयरमैन माइक गैटिंग ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद खेल को 2028 में लांस एंजेल्स में होने वाले ओलम्पिक खेलों में शामिल करने की कवायद में जुटा हूं। गैटिंग ने यह बात इसी सप्ताह लॉर्डस में आईसीसी के नए कार्यकारी अधिकारी मनु स्वाहने द्वारा कही गई बात के हवाले से कही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गैटिंग का कहना है कि हम मनु स्वाहने से बात कर रहे थे और वह इस बात को लेकर बेहद उम्मीद में हैं कि क्रिकेट को 2028 ओलम्पिक खेलों में जगह मिल सकती है। इसी पर वह मजबूती से काम कर रहे हैं. यह वैश्विक स्तर पर क्रिकेट के लिए बड़ी बात होगी। इस बात पर चर्चा हो रही इस टूर्नामेंट को दो सप्ताह में खत्म किया जाए, ताकि कोई परेशानी ना हो। इधर, महिला क्रिकेट को 2022 में होने वाले बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल किए जाने की घोषणा पहले हो चुकी है।

इससे पहले पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट को ओलंपिक खेलों में शामिल करने की वकालत की थी। उन्होंने कहा था कि क्रिकेट अलग-अलग फाॅर्मेट में खेला जा रहा है। ऐसे में खेल महाकुंभ में क्रिकेट को शामिल करना चाहिए, ताकि क्रिकेट का वैश्वीकरण हो सके। उन्होंने कहा कि वनडे, के टी-20 या टी-10 के फाॅर्मेट में क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here