कोर्ट का फैसला : 13 सितंबर तक ईडी की रिमांड में रहेंगे डीके शिवकुमार

कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के नेता डीके शिवकुमार को दिल्ली की राउज एवेन्यू अदालत ने बड़ा झटका देते हुए 13 सितंबर तक ईडी की हिरासत में भेज दिया है। बता दे कि प्रवर्तन निदेशालय कर ओर से 14 दिन की हिरासत की मांग की गई थी।

0
91
dk shivkumar

नई दिल्ली। कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के नेता डीके शिवकुमार को दिल्ली की राउज एवेन्यू अदालत ने बड़ा झटका देते हुए 13 सितंबर तक ईडी की हिरासत में भेज दिया है। बता दे कि प्रवर्तन निदेशालय कर ओर से 14 दिन की हिरासत की मांग की गई थी। गौरतलब है कि शिवकुमार को धनशोधन मामले में मंगलवार रात को गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद उन्हे चिकित्सीय जांच के बाद बुधवार को विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ के समक्ष पेश किया गया था।

वहीं शिवकुमार के वकीलों अभिषेक मनु सिंघवी और दायन कृष्णन द्वारा उन्हे हिरासत में लेकर पूछताछ में करने पर ईडी की याचिका का विरोध किया। वकीलों ने कहा कि कांग्रेस नेता जांच में शामिल हुए और कभी भागने की कोशिश नहीं की। उनके वकीलों ने अदालत में यह भी दावा किया गया कि उन्हे आज खाना भी नहीं दिया गया। यह ईडी द्वारा धीरे-धीरे दी जाने वाली यातना है।

अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि ईडी की दलीलों का विरोध करते हुए पुलिस रिमांड को अपवाद बताते हुए कहा इसे विवेकहीन तरीके से नहीं दिया जा सकता और शिवकुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ करने की याचिका दुराग्रह से भरी हुई है।

वहीं ईडी ने दलील दी कि शिवकुमार जांच से कतराते रहे हैं और उसमें सहयोग नहीं किया। साथ ही अहम पर रहते हुए उनकी आय में जबर्दस्त वृद्धि हुई थी। ऐजेंसी ने कहा कि उनका आमना-सामना कई दस्तावेजों से कराना होगा। साथ ही अवैध संपत्तियों के खुलासे को लकर उन्हें हिरासत में लेने की जरूरत है।

बता दे कि अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल के एम नटराज और अधिवक्ता एन के मट्टा ईडी का पक्ष रख रहे हैं। वहीं वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी और दायन कृष्णन 57 वर्षीय शिवकुमार की पैरवी कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here