Rahul gandhi

Congress’s new strategy, Rahul Gandhi to meet muslim intellectuals.

2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों के मद्देनजर राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गई है। जनता को लुभाने के लिए पार्टियां नई-नई रणनीति बना रही है। इसी कड़ी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज देश के मुस्लिम मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मुलाकात कर रहे हैं। ये मुलाक़ात राहुल गांधी के घर पर ही हो रही है।2014 की हार से सबक लेते हुए कांग्रेस इस चुनाव में हिन्दू-मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण को रोकना चाहती है। इसको लेकर मुस्लिमों से जुड़ने के लिए राहुल गांधी ने उन चेहरों को चुना है, जो कट्टरपंथी नहीं बल्कि उदारवादी और विद्वान समझे जाते हैं।.कांग्रेस का लक्ष्य है कि 2019 चुनाव के मद्देनजर सभी वर्गों के लोगों से मुलाकात की जाए।बता दे कि राहुल से मुलाक़ात करने वाले मुस्लिम चेहरों में समाजसेवी शबनम हाशमी, जोया हसन, जामिया मिल्लया इस्लामिया की पूर्व कुलपति सईदा हामिदा और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील व अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष जेड के फैजान का नाम शामिल है। हालांकि बीजेपी ने इसे वोट बैंक की राजनीति करार दिया है। बीजेपी ने राहुल को निशाने पर लेते हुए पूछा है कि ‘राहुल बताए कि मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ सीक्रेट मीटिंग क्यों कर रहे हैं? इसे गुप्त क्यों रखा जा रहा है? बीजेपी ने कहा कि राहुल 2019 लोकसभा चुनावों के लिए मुस्लिम वोट बैंक तैयार कर रहे है।

LEAVE A REPLY