कांग्रेस पार्टी (Congress Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष (National President) पद के चुनाव के लिए उठापटक के बीच अबतक सबसे मजबूत दावेदार माने जा रहे राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गेहलोत अब इस रेस में पिछड़ते नजर आ रहे हैं। दरअसल कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत के नाम सामने आने के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में सचिन पायलट का नाम सामने आने पर अशोक गेहलोत के समर्थन के 82 विधायकों ने अपना इस्तीफा दे दिया था, उसके बाद पार्टी हाई कमान की नाराजगी अशोक गेहलोत को झेलना पड़ी ।

Also Read-Taj Mahal के 500 मीटर के दायरे में नहीं चलेगी कोई ‘दुकानदारी’, Supreme Court हुई सख्त

अशोक गहलोत ने मांगी माफी

सूत्रों के अनुसार अशोक गेहलोत के समर्थन के 82 विधायकों की बगावत को लेकर कांग्रेस पार्टी के आलाकमान अशोक गेहलोत से बेहद ही नाराज हैं। अब जानकारी मिल रही है की अशोक गेहलोत ने कांग्रेस आलाकमान से इस बगावत के लिए माफ़ी मांग ली है। सूत्रों के अनुसार आलाकमान की ओर से अशोक गहलोत ने मल्लिकार्जुन खड़गे से माफी मांग ली है। इसके साथ ही गेहलोत ने अपने समर्थन के विधायकों के द्वारा पार्टी से दिए गए इस्तीफे को भी एक बड़ी गलती बताया है।

Also Read-मध्य प्रदेश : PFI पर NIA और ATS की रेड, इंदौर, भोपाल सहित कई जिलों में छापे, अबतक 25 गिरफ्तार

कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में पिछड़े गेहलोत

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में अब पिछड़ चुके हैं। उनके समर्थन के 82 विधायकों की बगावत के कारण कांग्रेस पार्टी के आलाकमान अब अशोक गेहलोत को कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर नहीं देखना चाहते। सूत्रों के अनुसार आलाकमान अब कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, मुकुल वासनिक, खड़गे, कुमारी सैलजा सहित कुछ और नामों पर कंग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए विचार कर सकती है।