Breaking News

नाथ नंबरी, बेटा दस नंबरी

Posted on: 10 Apr 2019 18:11 by shivani Rathore
नाथ नंबरी, बेटा दस नंबरी

छिंदवाडा सीट से जब मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने सांसद से विधायक बनने और उनके बेटे नकुलनाथ ने सांसद बनने की प्रत्याशा में नामांकन के पर्चे दाखिल किए तो बंद हो मुट्ठी तो लाख की और खुल गई तो फिर खाक की तर्ज पर उनके खानदान की संपत्ति भी उजागर हो गई। इसने ही एक राज और भी खोला कि राजनीति की शतरंज पर दशकों से शह और मात का खेल खेलते रहे कमलनाथ की तुलना में बेटा कहीं आगे निकल गया है।

Read More : भाजपा का घोषणापत्र सिर्फ जुमला पत्र: कमलनाथ

पहली बार किसी चुनाव मैदान में उतरे नकुल और उनकी पत्नी प्रिया की शपथ पत्र के साथ घोषित संपत्ति साढ़े छह सौ करोड़ से भी ज्यादा है, जबकि उनके पिता कमलनाथ और सांसद रही माता अलका नाथ अपने जीवन के उत्तरार्ध तक आते-आते भी सवा सौ करोड़ तक नहीं पहुंचे। दोनों की कुल जमा चल-अचल संपत्ति 124 करोड़ रुपए ही आंकी गई है। नकुलनाथ की संपत्ति 656 करोड़ रुपए से ज्यादा की है तो उनकी पत्नी प्रिया सवा 2 करोड़ से कुछ ज्यादा की संपत्ति की मालकिन हैं। कमलनाथ की संपत्तियों में बड़ा हिस्सा खेती की जमीन का भी है।

Read More : कमलनाथ के OSD प्रवीण की याचिका पर कोर्ट में कपिल सिब्बल करेंगे पैरवी

यह जमीन छिंदवाड़ा में ही है और इसकी कीमत है 36 करोड़ रुपए। कमलनाथ दो गाड़ियों एंबेसडर क्लासिक और सफारी के मालिक हैं तो उनके अरबपति पुत्र के पास कोई कार नहीं। इसी तरह अलकानाथ के पास भी कोई गाड़ी नहीं है। कमलनाथ ने छिंदवाड़ा और भोपाल से लेकर दिल्ली तक मकान, अपार्टमेंट में निवेश कर रखा है। उनकी पत्नी के पास भी 15 करोड़ के घर और जमीन में इन्वेस्टमेंट हैं। वहीं अलकानाथ के पास सवा दो करोड़ की ज्वेलरी भी है। नकुल के पास करीब नौ सौ ग्राम सोने की बार, साढ़े सात किलो से ज्यादा चांदी के साथ 148 कैरेट के करीब डायमंड एवं स्टोन के जेवरात हैं।

Read More : भोपाल से चुनाव लड़ने के लिए कैसे तैयार हुए दिग्गी राजा, देखें वीडियो

इन सबका बाजार मूल्य करीब अस्सी लाख रुपए के आसपास है। वहीं उनकी पत्नी के पास 270 ग्राम से ज्यादा सोना, 162 कैरट करीब डायमंड एवं स्टोन के जेवरात है, जिनकी कुल कीमत 57 लाख रुपए से ज्यादा है। संपत्ति के मामले में बेटा अपने पिता के कैसे इतना आगे निकल गया इसका जवाब तो नाथ पिता-पुत्र ही बेहतर दे सकते हैं, लेकिन यह सवाल लोगों के जेहन में तो बना ही रहेगा। इतना ही नहीं विपक्ष के लिए भी इतनी भारी संपत्ति एक बड़ा मुद्दा बनकर उभरेगी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com