Breaking News

छोटे ग्राहकों को बैंको से कर्ज नहीं, वरिष्ठ पत्रकार अशोक वानखेड़े की टिप्पणी

Posted on: 31 May 2018 09:09 by krishna chandrawat
छोटे ग्राहकों को बैंको से कर्ज नहीं, वरिष्ठ पत्रकार अशोक वानखेड़े की टिप्पणी

देश में छोटे ग्राहक पैसों की कमी से जूझ रहे है, उन्हें बैंक से लोन लेने के लिए कई चक्कर काटने पड़ रहे है। इसके बाद भी उन्हें बैंको द्वारा कर्जा नहीं दिया जा रहा है, जिससे कि उन्हें बहुत परेशानी आ रही है।

क्योंकि देश में जितनी भी कर्ज देने वाली संस्थाए और बैंकिंग सेक्टर है, वे छोटे ग्राहकों से दूर रहती है और बड़े ग्राहकों के पीछे भागती है।

एक एजेंसी के सर्वे के मुताबिक देश में जितने भी कर्ज लेने वाले योग्य ग्राहक है, उनमे से केवल एक तिहाई को ही बैंको से कर्जा मिल पता है और बाकि के दो तिहाई ग्राहक बैंक से कर्जा ले ही नहीं पाते है।

जबकि देश में घरेलू कर्ज 2022 तक 90 लाख करोड़ हो सकता है। क्यों भागती है बैंक बड़े ग्राहकों के पीछे ? क्या छोटे ग्राहक बैंक को मुनाफा नहीं देते? क्या आने वाले समय में बैंक अपनी पॉलिसी बदलेगी ?

इन सवालों के जवाब जानने के लिए देखिए वरिष्ठ पत्रकार अशोक वानखेड़े की टिप्पणी।

 

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com