आओ सब मिलकर यह सरकार बदल कर देखें | Come all together and see this Government Change

0
21
Gajal

बिगड़े हालात को इस बार बदलकर देखें,
आओ सब मिलके ये सरकार बदलकर देखें

दिल तो बदला नहीं तूने तो चलो ये कर ले।
एक दूजे का ये किरदार बदलकर देखें।।

दर्द का मुझको मिला तुझको खुशी का क्यों है।
जो मिले हमको वो अधिकार बदलकर देखें।।

ईद हिंदू के यहाँ हो औ दिवाली मुस्लिम।
हिंदू मुस्लिम के ये त्योहार बदलकर देखें।।

जीतकर जीते नहीं उनको चलो हारे अब।
जीत में अपनी क्यों ना हार बदलकर देखें।।

रोज़ लिखती हूँ ग़ज़ल दर्द के बहरो पर मैं।
कोई ग़ज़लों के ये अशआर बदलकर देखें।।

Read more : पुनीता दरयानी की एक ग़ज़ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here