मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना महामारी के दौरान जान गवाने वाले माता पिता के बच्चों के साथ दिवाली के त्योहार धूमधाम से मनाया। इस दौरान उन्होंने बच्चों के साथ जमकर डांस किया और हाथ में माइक लेकर गाने को गुनगुनाने लगे। इस शुभ अवसर के मौके पर उनकी पत्नी भी उनके साथ नजर आई।

आशीर्वाद योजना के अंतर्गत इतने हजार का दिया चेक

सीएम ने इस दौरान बच्चों को मिठाई खिलाई व बाल आशीर्वाद योजना के तहत उन्हें पांच-पांच हजार रुपए का चेक दिया। भोपाल के सीएम हाउस में हुए इस कार्यक्रम में सीएम अनाथ बच्चों का हौसाल बढ़ाते दिखे। सीएम ने बच्चों से कहा कि हम जिंदगी को हताश नहीं होने देंगे और जिंदगी में हमेशा आगे बढ़ेंगे। हम अपनी जिंदगी भी बनाएं और अपने देश को आगे लेकर भी जाएंगे। सीएम ने बच्चों के साथ मिलकर गीत भी गाए। उन्होंने बच्चों को कई गाने और कविताएं भी सुनाई। शिवराज सिंह चौहान के मुख से नदिया चले-चले रे धारा, तुझको चलना होगा…सॉन्ग सुनकर बच्चे मंत्रमुग्ध हो उठे।

Also Read : Rape पीड़िता महिला ने राष्ट्रपति से मांगी इच्छामृत्यु, सौतेले बेटे सहित पिता के दोस्तों ने किया दुष्कर्म

ट्वीट कर दी ये जानकारी

शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्विटर हैंडल से इस कार्यक्रम का वीडियो शेयर करते हुए लिखा- ‘किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार, किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार जीना इसी का नाम है…उन्होंने आगे लिखा कि मैंने संकल्प लिया है कि इन बच्चों के जीवन में कभी भी कोई परेशानी नहीं आने दूंगा। यह मामा व पूरे मध्यप्रदेश की जिम्मेदारी है। मेरे बच्चों, तुम्हारी हर जरूरत को तुम्हारा मामा पूरा करेगा।

प्रदेश भर के कलेक्टरों को दिए ये निर्देश 

सीएम ने राज्य के सभी कलेक्टरों को अनाथ बच्चों की अच्छी तरह से देखभाल करने का निर्देश भी दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो बच्चे अपने परिवार के साथ रह रहे हैं उनके लिए साल में एक बार सांस्कृतिक कार्यक्रम और खेल प्रतियोगिता कराई जाएगी और अच्छा प्रदर्शन करने वालों को सम्मानित किया जाएगा। इस कार्यक्रम का आयोजन भोपाल के सीएम हाउस में रविवार को रखा गया था।