maa lakshmi

धन और संपत्ति की अधिष्ठात्री देवी मां लक्ष्मी है। माना जाता है मां लक्ष्मी का जन्म समुद्र से हुआ था। और इन्होने श्री विष्णु से विवाह किया था. इनकी पूजा से धन की प्राप्ति होती है साथ ही वैभव भी मिलता है। वहीं अगर मां लक्ष्मी रुष्ट हो जाए तो जातकों को दरिद्रता का सामना करना पड़ता है लेकिन यदि मां लक्ष्मी प्रसन्न हो जाए तो आप गरीब से अमीर चुटकियों में बन सकते हैं। वहीं ऐसी मान्यता है कि शुक्रवार को विधिवत पूजन से मां लक्ष्मी और भी ज्यादा प्रसन्न होती हैं।

आपको बता दे, मां लक्ष्‍मी को भगवान विष्‍णु की अर्धांगिनी के रूप में पूजा जाता है। इन दोनों के 18 पुत्रों का विभिन्‍न ग्रंथों में उल्‍लेख किया गया है। वहीं मान्यता ये भी है कि इनके 18 पुत्रों के नाम का जाप करने से धन की समस्या खत्म हो जाती है और हर मनोकामनाएं पूर्ण होती है। आज हम आपको मां लक्ष्मी के इन सभी पुत्रों के नाम बताने जा रहे है जिनके जाप से आप अपनी सभी परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं। अगर आप परेशानी में है तो इन 18 पुत्रों का नाम ले इससे आपको तुरंत लाभ मिलेगा।

ये है मां लक्ष्‍मी के 18 पुत्रों के नाम-

1. देवसखा
2. चिक्लीत
3. आनन्द
4. कर्दम
5. श्रीप्रद
6. जातवेद
7. अनुराग
8. सम्वाद
9. विजय
10. वल्लभ
11. मद
12. हर्ष
13. बल
14. तेज
15. दमक
16. सलिल
17. गुग्गुल
18. कुरूण्टक

ऐसा है मां लक्ष्मी का स्वरूप –

मां लक्ष्मी प्रसन्नता, उल्लास और विनोद की देवी है। वह जहां रहती है वहा हंसने-हंसाने का वातावरण अपने आप बन जाता है। साथ ही मां लक्ष्मी को सोंदर्य की देवी भी कहा जाता है। मां लक्ष्मी का वाहन उल्लू, निर्भीकता अंधकार में राह ढूंढ लेने की क्षमता का प्रतीक है। मां लक्ष्मी के चार हाथ है जो कि दूरदर्शिता, दृढ़ संकल्प, श्रमशीलता और व्यवस्था शक्ति के प्रतीक हैं। साथ ही उनके दो हाथों में कमल है जो सौन्दर्य और प्रामाणिकता का प्रतीक है।