सूर्य को जल चढ़ाते हुए दोहराए ये मंत्र, सभी परेशानियों से मिलेगी मुक्ति

0
1479
surya

शास्त्रों के अनुसार रोजाना सूर्य को जल चढ़ाने से सभी तरह के ग्रह दोषों से मुक्ति मिलती हैं। सूर्य को जल चढ़ाने के समय कुछ विशेष मंत्रों का जाप किया जाए तो और भी जल्दी शुभ फल मिलते है। आज हम आपको यही बता रहे है कि सूर्य को जल चढ़ाते हुए किन मंत्रों का जाप आप कर सकते हैं।

1- ऊं घृणिं सूर्यः आदित्यः

2- ऊं ह्रीं ह्रीं सूर्याय सहस्रकिरणराय मनोवांछित फलम् देहि देहि स्वाहा।।

3- ऊं ऐहि सूर्य सहस्त्रांशों तेजो राशे जगत्पते, अनुकंपयेमां भक्त्या, गृहाणार्घय दिवाकरः।

4- ऊं ह्रीं घृणिः सूर्य आदित्यः क्लीं ॐ

5- ऊं ह्रीं ह्रीं सूर्याय नमः

सूर्य को जल चढ़ाने की सही विधि

1- सुबह जल्दी उठने के बाद स्नान आदि करने के बाद तांबे के लोटे में साफ पानी लें।

2- इसके बाद सूर्यदेव की ओर मुख करके धीरे-धीरे अर्घ्य अर्पित करें। साथ ही साथ ऊपर बताए गए मंत्रों में से किसी एक मंत्र का जाप करते रहें।

3- अर्घ्य देने के बाद सूर्यदेव को प्रणाम करें और अगर कोई परेशानी है तो उसके निवारण के लिए प्रार्थना करें।
इस विधि को सच्ची श्रद्धा और विश्वास के साथ करने से व्यक्ति की सभी मनोकामना पूरी होती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here