70 साल बाद बन रहा करवा चौथ पर अजब संयोग, पत्नी के साथ दर्शन देंगे चंद्रदेव

0
133

करवा चौथ का व्रत इस साल और भी ज्यादा खास होने वाला है। भारतीय महिलाओं में करवा व्रत का उत्साह जोरों पर रहता है। ऐसे में इस साल व्रत के दिन एक खास संयोग होने से इसका उत्साह और भी ज्यादा हो जाएगा। ज्योतिषियों के अनुसार इस साल करवा चौथ के दिन 70 साल बाद ऐसा योग बन रहा है, जिससे इस दिन पूजा का विशेष फल मिलने वाला है।

इस बार करवा चौथके दिन 70 साल बाद रोहिणी नक्षत्र और चंद्रमा में रोहिणी का योग होने वाला है जिसके कारण मार्कण्डेय और सत्यभामा योग बन रहा है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार करवा चौथ का व्रत कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को रखा जाता है। इस वर्ष चतुर्थी 17 अक्टूबर गुरुवार को पड़ रही है, जिसके साथ ही करवा चौथ पर बनने वाले शुभ संयोग में रोहिणी नक्षत्र के साथ वृष उच्च राशि में चंद्रमा का योग होने के कारण करवा चौथ को अधिक मंगलकारी बना रहा है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार चंद्रमा को अपनी सभी पत्नियों में रोहिणी सबसे अधिक प्रिय है और चतुर्थी के दिन शुभ संयोग में चंद्रमा का अपनी प्रिय पत्नि के साथ होना इसे और भी ज्यादा शुभ फलदायी बना रहा है। ऐसा योग भगवान श्री कृष्ण और सत्यभामा के मिलन के समय भी बना था, इसलिए इसे मार्कण्डेय और सत्यभामा योग भी कहा जा रहा है।

व्रत का शुभ मुहूर्त

करवा चौथ के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 5 बजकर 50 मिनट से 7 बजकर 6 मिनट तक रहेगा। ज्योतिषियों के अनुसार करवा चौथ का व्रत सुबह 6 बजकर 21 मिनट से रात 8 बजकर 18 मिनट तक माना जा रहा है, जिससे उपवास का समय 13 घंटे, 56 मिनट रहेगा। ज्योतिषियों के अनुसार चांद निकलने का समय रात 8 बजकर 18 मिनट पर रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here