Business ideas: वैसे तो हम आपको हर रोज एक से बढ़कर एक और नए बिज़नेस बताते ही रहते हैं लेकिन आज हम आपको एक ऐसे उद्योग के बारे में बता रहे हैं जिसे आप सरकारी सहायता से प्रारम्भ कर सकते हैं और हर महीने मोटी रकम कमा सकते हैं.

मुर्गी पालन

आप मुर्गी पालन (Poultry Farming) का व्यवसाय कर सकते हैं. इस कारोबार को कम से कम 5 से 9 लाखरूपए की लागत में आरम्भ कर सकते है. छोटे लेवल पर यानी 1500 मुर्गियों से लेयर फार्मिंग की स्टार्टिंग करेंगे तो आप 50 हजार से 1 लाख रूपए प्रति माह तक कमा सकते हैं.

बकरी पालन

आप बकरी पालन (goat farming) का व्यवसाय भी कर सकते हैं. बकरी पालन को एक वाणिज्यिक व्यापार भी माना जाता है, जो किसी देश की इकोनॉमिक और पोषण में अधिक भूमिका देता है. आपको बता दें कि बकरी पालन के व्यवसाय के लिए आप केंद्र सरकार से 35 फीसदी की सब्सिडी ले सकते है. वहीं, कई राज्य सरकारें भी इसके लिए सब्सिडी उपलब्ध कराती है. हरियाणा सरकार बकरी पालन के बिजनेस के लिए 90 फीसदी तक सब्सिडी दे रही है.

Also Read – UP: लव मैरिज का दर्दनाक अंत, कलयुगी पति ने कर दी पत्नी की हत्या, जानिए कैसे दफनाया शव

मछली पालन

आप सिर्फ 25,000 रुपये वार्षिक खर्च करके औसतन 1.75 लाख रूपए कमा सकते हैं. हम बात कर रहे हैं मछली पालन (Fish Farming) के बिज़नेस के बारे में. यहां बता दें कि मौजूदा स्थिति में किसान सब्जी के अतिरिक्त मछली पालन(Fisheries) की ओर भी ध्यान दे रहे हैं. सरकार भी मछली पालन के कारोबार को ओर अधिक बढ़ावा दे रही है.

डेयरी प्रोडक्ट्स कारोबार

आप डेयरी प्रोडक्ट्स (Dairy Product Business) का व्यापार भी स्टार्ट कर सकते हैं. डेयरी उत्पाद ऐसे होते हैं जो हमारी रोजमर्रा में इस्तेमाल किए जाने वाले सामान है. इसमें घाटा बिल्कुल ना के बराबर होने की गुंजाइश होती है. डेयरी प्रोडक्ट्स के कारोबार में केवल 5 लाख रुपए के इन्वेस्टमेंट से प्रत्येक माह 70 हजार रुपए तक कमाई की जा सकती हैं.

मखाने का कारोबार

दरअसल आप बहुत ही सॉलिड प्रॉफिट कमाना चाहते हैं तो आपको मखाने की खेती करना चाहिए। इसकी खेती में आपको तगड़ा प्रॉफिट हो सकता है. इस उत्पादक की मांग गांव से शहरों तक अक्सर काफी अधिक होती है. वहीं, इसके खेती से किसानों की कमाई भी कई गुना तक बढ़ जाती है. वहीं अगर कमाई की बात करें तो इससे तक़रीबन 1 से डेढ लाख रूपये एक सीजन में मिलते हैं. जबकि वर्ष में मखाना दो बार बोया जाता है.