Breaking News

बजट 2019: चुनाव से पहले खुल सकता है राहत का पिटारा

Posted on: 28 Jan 2019 14:43 by Surbhi Bhawsar
बजट 2019: चुनाव से पहले खुल सकता है राहत का पिटारा

मोदी सरकार अपना आखिरी बजट 1 फरवरी को पेश करने जा रही है। संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होकर 13 फरवरी तक चलेगा। लोकसभा चुनाव से पहले पेश होने वाले बजट से जनता को काफी उम्मीदें है। कयास लगाए जा रहे है कि चुनाव को देखते हुए मोदी सरकार का ये बजट बेहद ख़ास हो सकता है। आज हम आपको बताते है कि कौनसे राहत के पिटारे सरकार आपके लिए खोल सकती है।

इन चीजों में मिल सकती है राहत

इनफॉर्मल सेक्टर

अंतरिम बजट में मोदी सरकार इनफॉर्मल सेक्टर में बड़ी सौगात दे सकती है। सरकार सूक्ष्म और लघु उद्योग में सोशल सिक्योरिटी को लेकर बड़े ऐलान कर सकती है। सरकार चाहती है कि जो कम सैलरी पर काम करने वाले लोग हैं, उन्हें प्रोविडेंट फंड, इंश्योरेंस और पेंशन जैसी सुविधाएं मिलें।

टैक्स छूट

मोदी सरकार के आखिरी बजट में टैक्स छूट की सीमा में कुछ बढ़ोतरी की जा सकती है। कयास लगाए जा रहे है कि छूट की मौजूदा सीमा 50 हजार रुपए के आसपास बढ़ाई जा सकती है।

किसानों को राहत पैकेज

2018-19 के अंतरिम बजट में मोदी सरकार किसानों को राहत पैकेज दे सकती है। सूत्रों ने कहा कि मंत्रालय द्वारा प्रस्तावित विकल्पों में समय पर फसल ऋण चुकाने वाले किसानों का ब्याज माफ करने का प्रस्ताव भी शामिल है। इससे सरकार पर 15 हजार करोड़ का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

इनकम टैक्स में छूट

मोदी सरकार ने हाल ही में सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण को मंजूरी दी है। इसमें एक शर्त भी रखी थी जिसमे अभ्यर्थी की वार्षिक आय आठ लाख रुपये सालाना से ज़्यादा न हो। इसपर विपक्ष ने सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा था कि आठ लाख रुपये की आय वालों से 20 फीसदी आयकर वसूला जाता है, जिसे सरकार गरीब बता रही है।

राइमरी हेल्थ केयर

मोदी सरकार अपने आखिरी बजट में प्राइमरी हेल्थ केयर के लिए आवंटित रकम में इजाफा कर आयुष्मान भारत योजना के तहत 5,500 हेल्थ केयर सेंटरोंं की शुरुआत कर सकती है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com