Breaking News

वेश्या की तलाश में कोठे पर जा पहुँचा लड़का,वहाँ मिल गई उसे अपनी बहन- फिर हुई होश उड़ाने वाली बात

Posted on: 30 Jun 2018 12:49 by Surbhi Bhawsar
वेश्या की तलाश में कोठे पर जा पहुँचा लड़का,वहाँ मिल गई उसे अपनी बहन- फिर हुई होश उड़ाने वाली बात

नई दिल्ली – यह मामला कुछ ऐसा है जो शायद पहले कभी नहीं सुना गया हो। आज हम आपको एक ऐसा वाकया बताने जा रहे हैं जो शायद कोई सोच भी नही सकता। हम बात कर रहे हैं एक ऐसे भाई कि जो अपनी सेक्स की भूख मिटाने एक कोठे पर जा पहुँचा। लेकिन, उसके साथ वहां कुछ ऐसा हो गया जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, एक लड़का अपनी सेक्स कि भुख मिटाने के लिए रेड लाइट एरिया गया जहां उसके साथ कुछ ऐसा हो गया जिसकी वह कल्पना भी नहीं कर रहा था।

मामला बिहार के बेगूसराय ज़िले के कस्बाई इलाके का है, जहाँ उस वक्त एक अजीब बात देखने को मिली जब एक लड़का एक वेश्या के साथ कमरे में गया और चंद मिनटों में ही बाहर निकल आया। बाहर आकर वह सीधे पुलिस के पास गया और पुलिस वालों के साथ मिलकर उस महिला को देह व्यापार के दलदल से बाहर निकाल लाया। शायद आप ये सब पढ़कर कुछ समझ न पा रहे हो। तो आपको बता दें कि वह लड़की कोई और नहीं बल्कि उसकी अपनी बहन थी। रिपोर्ट के मुताबिक, महिला का नाम प्रतिमा (बदला हुआ नाम) है।

प्रतिमा के मुताबिक, ‘करीब तीन साल पहले अशोक खलीफा नाम का शख्स उसे भगाकर बखरी लाया और उसे कोठो पर बेच दिया।’ फिर एक दिन अचानक उसके यहां एक फेरीवाला आया जिसने उसे पहचान लिया। दोनों एक दूसरे को पहचानते थे। दरअसल, वह फेरीवाला प्रतिमा के मायके का था। फेरी वाले ने अपनी सुझवुझ दिखाते हुए यह पूरा मामला प्रतिमा के परिवारवालों को बताया, जिसके बाद पुलिस की मदद से प्रतिमा को आज़ाद कराया गया। फेरीवाले ने प्रतिमा से वादा किया था कि वह उसे बचाने जरुर आयेगा और उसे देह व्यापार के इस दलदल से आजाद करायेगा।

फेरीवाले के मुताबिक, वह अशोक खलीफा के पास ग्राहक बनकर पहुंचा और उसने उसे दो लड़कियां दिखाई। क्योंकि वह अपनी मुंह बोली बहन को पहचान गया था इसलिए उसने प्रतिमा को चुना। फिर जब दोनों कमरे में गए तो उसने वहां प्रतिमा को बताया कि वह उसे पहचानता है। प्रतिमा भी उसे पहचान गई थी। कमरे में अपनी बहन के साथ करीब पांच मिनट तक रहने के बाद उसने कहा कि वह थाने से पुलिस लेकर आयेगा। फिल्हाल पुलिस ने प्रतिमा की मेडिकल जांच कराई है और अदालत में उसका बयान भी दर्ज हो चुका है। प्रतिमा तो बच गई लेकिन, देश में ऐसी करोड़ों लड़कियाँ है जो इस दलदल में किसी मजबुरी नहीं बल्कि किसी को धोखे से फंसी हुई हैं, जिनको भी किसी ऐसे ही भाई कि तलाश है।

1. सोनागाछी, कोलकाता इसे एशिया का सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया भी कहा जाता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां करीब 11 हजार सेक्स वर्कर्स काम करती हैं. इनमें कम उम्र से लेकर 40 साल से अधिक उम्र की महिलाएं भी शामिल हैं. यहां सैकड़ों बहुमंजिला इमारते हैं जहां सेक्स वर्कर्स रहती हैं और ग्राहकों का इंतजार करती हैं. सोनागाछी रेड लाइट एरिया के ऊपर बनाई गई डॉक्युमेंट्री Born into Brothels को ऑस्कर अवॉर्ड भी मिल चुका है. नोट- सभी फोटो प्रतीकात्मक हैं और स्टोरी प्रजेंटेशन के लिए इस्तेमाल की गई हैं.

2. कमाठीपुरा, मुंबई यह देश का दूसरे सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया है. 25 साल पहले यहां करीब 50,000 सेक्स वर्कर्स हुआ करती थीं. लेकिन बाद के सालों में इनकी संख्या में कमी आई. जगह की कमी और रहने की दिक्कत की वजह से कई सेक्स वर्कर्स महाराष्ट्र के दूसरे जगहों पर चली गईं. 2005 में डांस बार पर बैन लगने के बाद काफी लड़कियां कोई और रोजगार नहीं मिलने पर सेक्स वर्कर के रूप में यहीं काम करने लगी थीं.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com