Breaking News

इंदौर प्रेस क्लब में पुस्तक चर्चा एवं लोकार्पण कार्यक्रम संपन्न

Posted on: 10 Jun 2018 14:57 by Mohit Devkar
इंदौर प्रेस क्लब में पुस्तक चर्चा एवं लोकार्पण कार्यक्रम संपन्न

इंदौर: वरिष्ठ पत्रकार श्री दीपक तिवारी इसलिए बधाई के पात्र हैं, क्योंकि उन्होंने रिपोर्टिंग के साथ-साथ राजनीति विषय पर संदर्भ ग्रंथ भी लिखा, जो इतिहास, राजनीति और पत्रकारिता के क्षेत्र में रुचि रखने वालों के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है। पत्रकार के लिए राजनेताओं पर लिखना इसलिए भी मुश्किल कार्य है, क्योंकि वे न तो नेताओं का यशोगान कर सकते हैं और न प्रायोजित बनकर लिख सकते हैं। ऐसे में अपनी अस्मिता और पहचान को बरकरार रख राजनीति पर लिखना एक साहसिक कदम है। हम आशा करते हैं कि श्री दीपक तिवारी इसी तरह का लेखन आगे भी जारी रखें, ताकि नई पीढ़ी के पत्रकारों को राजनीतिक इतिहास के बारे में जानकारी मिलती रहे।Related imageयह बात वरिष्ठ पत्रकार एवं ब्लैक एंड ब्हाइट न्यूज नेटवर्क के सीएमडी श्री हेमन्त शर्मा ने ‘द वीक’ के राज्य संवाददाता एवं वरिष्ठ पत्रकार श्री दीपक तिवारी की पुस्तक ‘राजनीतिनामा मध्यप्रदेश (2003 से 2018) भाजपा युग’ का लोकार्पण एवं पुस्तक पर चर्चा में कही। इंदौर प्रेस क्लब द्वारा आयोजित लोकार्पण एवं पुस्तक चर्चा कार्यक्रम के साथ ही पत्रकार श्री लक्ष्मीकांत पंडित की पुस्तक मेरी पत्रकारिता का विमोचन भी किया गया।

indore
वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रकाश हिंदुस्तानी ने कहा कि श्री दीपक तिवारी का यह साहसिक कदम है कि उन्होंने पत्रकारिता के उस इतिहास पर लिखा, जिसके वे स्वयं साक्षी रहे। श्री तिवारी ने ऐतिहासिक घटनाओं को किस्सागोई में पिरोकर उसे रोचक तरीके से प्रस्तुत किया, जो पठनीय के साथ संग्रहणीय भी है। उन्होंने आगे कहा कि अच्छा पत्रकार वही है जो पत्रकारिता के साथ इतिहास की भी समझ रखता है। हालांकि मध्यप्रदेश के लोगों को अपनी क्षेत्रीयता पर कम गर्व है, इसके बावजूद दीपक तिवारी ने अपने प्रदेश की राजनीति को पुस्तक के रूप में आकार दिया।
पत्रिका के संपादक व वरिष्ठ पत्रकार अमित मंडलोई ने कहा कि आज हम ऐसे दौर में खड़े हैं, जहां हर शब्द पर पहरा है और हर विचार पर नजर। इतिहास केवल वही नहीं होता जो केवल सूचनाएं देता है। इतिहास वह भी होता है, जिस कालखंड में हम जीकर उसे विकसित करते हैं। श्री तिवारी ने इसी बात को बहुत सुंदर तरीके से रेखांकित किया है। अत: यह पुस्तक एक विषयपर पूरी बात कहती है और बताती है कि चेतना का माध्यम राजनीति भी है। इंदौर प्रेस क्लब अध्यक्ष श्री अरविंद तिवारी ने कहा कि श्री दीपक तिवारी ऐसे पत्रकार हैं जो दबंग पत्रकारिता के धनी माने जाते हैं और उनकी लिखी खबरों पर प्राय: चर्चा होती है।
अपनी पुस्तक के बारे में श्री दीपक तिवारी ने कहा कि यह मेरी दूसरी पुस्तक है। इसके पूर्व इसी शीर्षक से पुस्तक आ चुकी है, जिसमें 1956 से 2003 तक की घटनाओं का उल्लेख है। उन्होंने आगे कहा कि यह पुस्तक प्रदेश की राजनीतिक घटनाओं पर आधारित है और इसे किस्सागोई शैली में लिखा गया है। पुस्तक में 17 अध्याय हैं और एक नया राजनीतिक व्याकरण है। पुस्तक में केवल सरकार की प्रशंसा ही नहीं है, उनकी आलोचना भी है, क्योंकि तटस्थता एक प्रकार की बौद्धिक कायरपन है, जिसे मैंने अपनी पुस्तक के शुरूआत में ही प्रमुखता के साथ उल्लेख किया है।
कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथियों ने पत्रकार साथी श्री लक्ष्मीकांत पंडित की पुस्तक ‘मेरी पत्रकारिता’ का विमोचन भी किया गया। इस मौके पर पंडित ने कहा कि यह मेरी चौथी कृति है और इसमें मैंने मेरी पत्रकारिता के अनुभवों को रेखांकित किया है। अतिथि स्वागत इंदौर प्रेस क्लब के कोषाध्यक्ष दीपक कर्दम, प्रदीप जोशी, इस्माइल लहरी, भगवतीप्रसाद पंडित, धर्मेन्द्र शुक्ला ने किया। कार्यक्रम का संचालन राजेश जौहरी ने किया। आभार माना इंदौर प्रेस क्लब महासचिव नवनीत शुक्ला ने। कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा, अद्र्धेंदु भूषण, डॉ. संतोष पाटीदार, राजेंद्र कोपरगांवकर, श्रीकृष्ण बेडेकर, प्रदीप मिश्रा, अमित त्रिवेदी, सचिन शर्मा, संजय त्रिपाठी, लोकेंद्र थनवार, प्रवीण जोशी, शैलेष पाठक, आदिल सईद, संदीप पारे, धर्मेश यशलाहा, महेंद्र बागड़ी, दिलीप पंडित सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com