Breaking News

यूपी में ईवीएम बदलने के आरोपों पर चुनाव आयोग ने तोड़ी चुप्पी, दिया ये जवाब | BJP trying to manipulate EVM Machine in Uttar Pradesh

Posted on: 21 May 2019 14:58 by bharat prajapat
यूपी में ईवीएम बदलने के आरोपों पर चुनाव आयोग ने तोड़ी चुप्पी, दिया ये जवाब | BJP trying to manipulate EVM Machine in Uttar Pradesh

लोकसभा चुनाव के बाद आए एक्जिट पोल के सर्वे के बाद एवीएम की विश्वसनीयता को लेकर मचे घमासान का सिलसिला रूकने का नाम ही नही ले रहा है। इसी के चलते उत्तरप्रदेश में भी ईवीएम बदलने का आरोप लगाया गया था। अब इस मामले पर यूपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और चुनाव आयोग ने जवाब दिया है।

चुनाव आयोग ने कहा कि राज्य के कुछ जिलों से ईवीएम को लेकर सामने आई विसंगतियां निराधार हैं। वहीं, यूपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि वोटिंग वाले ईवीएम को सुरक्षा और सीसीटीवी कवरेज से लैस मजबूत सील कमरों में सुरक्षित रख गया हैं। साथ ही उन्होने ईवीएम बदलने की संभावनाओं को भी खरिज किया है। निर्वाचन अधिकारी ने कहा, आप घबराएं नहीं और आयोग पर भरोसा रखें।

दरअसल उत्तरप्रदेश के कई जिलों में ईवीएम बदलने की अफवाहें सोशल मीडिया पर प्रसारित की गई थी। जिसका आरोप बीजेपी पर लगाया जा रहा था। साथ ही विपक्षी पार्टियां भी भाजपा को घेरने में लग गई थी। इसके बाद अब राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने इन अफवाहों पर विाराम लगाते हुए स्पष्टीकरण दिया है।

क्या है पूरा मामला?
बता दे कि उत्तरप्रदेश में ईवीएम बदलने की अफवाहों उड़ी थी। जिसको लेकर मऊ में बीती रात बड़ी संख्या में भीड़ स्ट्रांग रूम जमा हो गई थी जिसे पुलिस ने वहां से खदेड़ा था। इसके अलावा चंदौली और गाजीपुर में भी ईवीएम बदलने की अफवाहों ने सोशल मीडिया पर जोर पकड़ा था।
चुनाव आयोग ने बताया कि गाजीपुर में वाटिंग वाले ईवीएम के स्ट्रांग रूम के बाहर उम्मीदवारों की निगरानी रखने का मामला सामने आया था, जिसे आयोग के दिशा-निर्देश के बाद सुलझा लिया गया है। वहीं चुनाव आयोग ने चंदौली और डुमरियागंज से सामने आई ईवीएम विसंगतियों को भी निराधार बताया है।

चंदौली में विपक्ष ने किया था हंगामा –
गौरतलब है कि सोमवार को चंदौली में जिला मुख्यालय पर स्थित नवीन मंडी समिति परिसर में ईवीएम रखे जाने की सूचना मिलने पर प्रशासन पर ईवीएम बदलने का आरोप लगाते हुए विपक्ष ने जमकर हंगामा किया था। हालांकि, प्रशासन ने सफाई देते हुए कहा था कि यहां के स्ट्रॉन्ग रूम में पूर्व में सकलडीहा तहसील पर रिजर्व मशीनों के रूप में रखी गई ईवीएम मशीनों के रखा गया था।

सबसे पहले बिहार उड़ी थी ईवीएम बदलने की अफवाह –
वहीं सबसे पहले ईवीएम बदलने की अफवाह बिहार में उड़ी थी जिसके बाद सोमवार को आरजेडी-कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सारण और महाराजगंज सीट के एक स्ट्रांग रूम में घुसने की कोशिश कर रहे ईवीएम से भरे एक ट्रक को अंदर नहीं जाने दिया था। जिसकी फोटो और वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल की गई थी।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com