Birthday Special: जानिए देश का गौरव बढ़ाने वाली साक्षी मलिक के जीवन की कुछ खास बातें

0
16
sakshi malik

भारत को रियो ओलंपिक में पहला पदक दिलाने वाली ​महिला पहलवान साक्षी मलिक 3 सितंबर को अपना 26वां जन्मदिन मनाने जा रही है। 1992 को हरियाणा के रोहतक जिले में उनका जन्म हुआ था। आइये जानते है देश का गौरव बढ़ाने वाली साक्षी के जीवन की कुछ खास बातें।

Image result for साक्षी मलिक

via

बता दें कि साक्षी मलिक का जन्म रोहतक जिले के मोखरा गांव में हुआ था। उनकी मां वहीं के आंगनवाड़ी में सुपरवाइजर का काम करती थी। और पिता सुखबीर मलिक दिल्ली परिवहन निगम डीटीसी में बस कंडक्टर का काम करते हैं। पिता के मुताबिक साक्षी को कुश्ती की प्रेरणा दादा बदलू राम से मिली थी जो पहलवान थे।

via

साक्षी ने साल 2014 में स्कॉटलैंड के ग्लासगो में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था। तब वह स्वर्ण पदक जीतने से चूक गईं थीं। वहीं रियो में महिलाओंं के 58 किग्रा वर्ग के रेपचेप दौर में किरगिस्तान की पहलवान को अंतिम क्षणों में ​हराकर भारत के लिए रियो ओलंपिक में पहला पदक जीता और हमेशा के लिए भारतीय खेल इतिहास का अटूट हिस्सा बन गईं।

via

साक्षी किसी भी ओलंपिक में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान हैं। उनसे पहले के डी जाधव, सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त भारत के लिए कुश्ती में ओलंपिक पदक जीत चुके हैं। ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बावजूद भारतीय खेल इतिहास में साक्षी का नाम हमेशा स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। वहीं रियो से लौटने के बाद साक्षी को पीवी सिंधू, जीतू राय और दीपा कर्माकर के साथ भारत के सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित किया गया।

via

रियो में साक्षी को पदक जीतता देख हर कोई एक बार फिर उस पल का साक्षी बना कि लड़कियों के लिए कुछ भी नामुमकिन नहीं हैं। लड़कियां लड़कों से दो कदम आगे बढ़कर अपने परिवार, गांव, शहर, राज्य और देश का नाम रोशन कर सकती हैं। साक्षी पूरे देश को तुम पर गर्व है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here